पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनुदान:बंद मिल के संचालक बोले-सरकार अनुदान दे तो हम उद्योग लगा सकते

मनजीत मल्होत्रा|त्रिवेणीगंज14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शाहनवाज हुसैन के उद्योग मंत्री बनने के बाद बहुप्रतिक्षित मांग पूरा होने की जगी आस

कृषि आधारित उद्योग लगाए जाने की असीम संभावनाओं के बावजूद त्रिवेणीगंज अनुमंडल उद्योगविहीन है। यहां कृषि आधारित फूड संस्करण संयंत्र लगाकर आर्थिक पिछड़ेपन को दूर किया जा सकता है। बता दें आजादी के 74 वर्ष बाद भी उद्योग-धंधे के क्षेत्र में त्रिवेणीगंज विकास की एक सीढ़ी नहीं चढ़ सका है। इसका मुख्य कारण जनप्रतिनिधियों की निष्क्रियता व उपेक्षापूर्ण नीतियां हैं। बहरहाल, जिला मुख्यालय निवासी वरिष्ठ भाजपा नेता सैयद शाहनवाज हुसैन को राज्य का उद्योग मंत्री बनाए जाने पर लोगों में एक बार भी उम्मीद जगी है। लोगों का मानना है कि निश्चित तौर पर जिले में उद्योगों की स्थापना होगी। गौरतलब है कि क्षेत्र में

90 प्रतिशत जनसंख्या कृषि पर निर्भर है। क्षेत्र में जुट, मक्का, धान, आलू समेत तेलहन व दलहन (मूंग) की खेती बड़े पैमाने पर होती है। अनुमंडल के एक बड़े भू-भाग में मक्के व केले की खेती प्रचुर मात्रा में की जाती है। मक्का व आलू आधारित फूड प्रसंस्करण संयंत्र व पटसन उद्योग के लिए पर्याप्त मात्रा में क्षेत्र में कच्चा माल भी है। मक्का, आलू व केला आधारित उद्योग स्थापित किए जाए तो सरकार को राजस्व का लाभ होगा। वहीं अपराध का रास्ता अपना रही युवा पीढ़ी को एक नई दिशा मिलेगी। इधर, उद्योग के अभाव में क्षेत्र से लाखों टन अनाज प्रतिदिन दूसरे बड़े शहरों में भेजे जाते हैं। उद्योग के अभाव में एक ओर जहां लोग दूसरे राज्यों में पलायन कर रहे हैं, वहीं यहां के किसान अनाज बेचने के लिए दूसरों पर निर्भर हैं।

जिले के ‘लाल’ करें पहल तो उद्योग-धंधों के नहीं होने का खत्म हो मलाल

जानकार बताते हैं कि त्रिवेणीगंज प्रखंड से सटे गढ़ा (शंकरपुर) में खंडसारी चीनी मिल थी। उस मिल से भूरे रंग की महीन चीनी का उत्पादन होता था। जो खाने में काफी स्वादिष्ट थी। गुड़ की सोंधी महक आज भी बूढ़े-बुजर्ग के दिलों दिमाग में है। जबकि उस क्षेत्र में गन्ने की खेती व्यापक पैमाने पर की जाती थी, लेकिन बदलते हालात के कारण मिल बंद हो गया। मिल के संचालक मो. मिनतुल्ला बताते हैं कि राज्य सरकार कृषि उद्योग लगाने को लेकर पर्याप्त सुविधा व अनुदान मुहैया कराए तो उद्योग लगाने के लिए पहल की जा सकती है। यह जिले के ‘लाल’ से ही संभव है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें