पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

घटना:जिस घर में इकलौते पुत्र ने लगाई थी फांसी, उसी कमरे में मिला पिता का शव

लौकहा /सुपाैल6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुपौल के बरैल गांव में पड़ोसियों और ग्रामीणों से जानकारी लेते पुलिस अधिकारी।
  • सदर थाना क्षेत्र के बरैल स्थित वार्ड-2 की घटना, एक साल पूर्व पुत्र ने किया सुसाइड
  • सहरसा के नया बाजार स्थित साईं बाबा मंदिर में थे पुजारी
  • दस दिन पूर्व अपने गांव बरैल आए थे बटेश्वर झा, फर्श पर गिरे हुए में गले में लिपटा था कपड़ा
Advertisement
Advertisement

सदर प्रखंड अंतर्गत बरैल वार्ड नंबर दो स्थित आवासीय परिसर से लगभग 50 वर्षीय गृहस्वामी बटेश्वर झा का शव शनिवार को संदिग्ध अवस्था में मिला। बताया जा रहा है कि जिस घर में एक साल पहले मृतक के इकलौते पुत्र ने फांसी के फंदे से झूलकर खुदकुशी की थी, उसी कमरे से पिता का भी शव बरामद हुआ है। हालांकि घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। ग्रामीणों ने बताया कि पारिवारिक कलह के बाद एक साल पहले बटेश्वर झा के पुत्र ने जब आत्महत्या कर ली तो परिवार के लोग घर छोड़कर अन्यत्र चले गए। इसके बाद उनके परिजनों के बारे में किसी को कोई सूचना नहीं है कि वे लोग कहां रहते हैं और क्या कर रहे हैं। शनिवार को किसी ने बटेश्वर झा को उसके घर में मृत देखा। जिसके बाद कानों कान पूरे गांव में यह खबर आग की तरह फैल गई। इसके बाद गांव के लोग बटेश्वर झा के घर पहुंच कर देखा तो पता चला कि स्वर्गीय झा अपने घर के एक कमरे के फर्श पर गिरे पड़े हैं और उनके गले में एक कपड़ा लिपटा है। लिहाजा ग्रामीणों के द्वारा इसकी सूचना स्वर्गीय झा के छोटे भाई पवन झा व पुलिस को दी गई। सूचना पर शनिवार की दोपहर सदर थाना के पुलिस अवर निरीक्षक सुभाष ओझा पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर लोगों से पूछताछ की।

घरेलू विवाद में इकलौते पुत्र ने फांसी लगाकर दे दी थी जान, तभी परिजन घर छोड़ चले गए
एक वर्ष पूर्व उसी घर में मृतक के इकलौते पुत्र ने घरेलू विवाद के कारण फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि तब से ही बटेश्वर झा मानसिक रूप से कमजोर होने लगे थे। वहीं, झा की पत्नी और उनकी तीनों पुत्री भी उनसे दूर रहने लगे। ग्रामीणों ने बताया कि बटेश्वर झा पिछले कुछ महीनों से सहरसा के नया बाजार स्थित साईं बाबा मंदिर में पुजारी का काम करते थे। वह 10 दिन पहले गांव आए थे और गांव में इधर-उधर घूमते हुए उन्हें लोग देखे भी थे। लोगों ने यह भी बताया कि इस बार जब से वह गांव आए थे, हमेशा नशे में ही रहते थे। जिसके कारण समाज के लोग भी स्वर्गीय झा से दूरी बनाकर ही रहते थे। बटेश्वर झा के बेटे की मौत के बाद से ही घर खाली पड़ा था। कोई भी इस घर पर नहीं रहता था।

मृतक की पत्नी और पुत्री कहां, यह भाई तक को मालूम नहीं
ग्रामीणों की सूचना पर पहुंचे मृतक के छोटे भाई पवन झा ने बताया कि उन्हें ग्रामीणों के द्वारा उनके भाई की मौत की खबर मिली। जिसके बाद वह सहरसा से बरैल पहुंच कर ग्रामीणों एवं पुलिस के साथ जब घर गए तो देखा कि उनका भाई एक घर के फर्श पर गिरा पड़ा हुआ है। वहीं स्वर्गीय झा के छोटे भाई पवन झा से जब बटेश्वर झा के परिजन के बारे में पूछा गया तो पवन झा ने बताया कि बटेश्वर झा की पत्नी कहां है, यह मुझे नहीं मालूम है और न ही उनके तीनों पुत्री के बारे में भी कुछ मालूम है।
आत्महत्या का मामला किया गया है दर्ज
घटनास्थल से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराकर उनके परिजनों को सौंप दिया गया है। बैरैल गांव निवासी स्व. कृष्ण कांत झा के 50 वर्षीय पुत्र बटेश्वर झा द्वारा आत्महत्या किए जाने का मामला प्रतिवेदित हुआ है। हालांकि पुलिस विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही है।
-दीनानाथ मंडल, थानाध्यक्ष सुपौल।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement