पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:जेपी व डॉ. लोहिया पाठ्यक्रम में हो शामिल

निर्मली11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जेपी विश्वविद्यालय छपरा में पूर्व में पाठ्यक्रम में शामिल थे दोनों विद्वान

जय प्रकाश नारायण विश्वविद्यालय छपरा के पाठ्यक्रम में लोकनायक जयप्रकाश नारायण एवं डाॅ. राम मनोहर लोहिया की जीवनी की पढाई सिलेबस से हटाए जाने पर राजद अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यनारायण मंडल ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि दोनों महापुरुष स्वतंत्रता सेनानी थे। आजाद भारत में समाज के निचले पायदान पर खड़े व्यक्तियों के अधिकार के लिए संसद अथवा सदन के बाहर संघर्ष के लिए जाने जाते हैं। डॉ लोहिया का विचार आज भी समाज के पिछड़ों-दलितों के लिए वरदान से कम नहीं है। जिन्होंने इस वर्ग के हिस्सेदारी की बात कर आमजन के दिल में जगह बना ली। पाठ्यक्रम में लोकनायक जयप्रकाश नारायण, डॉ. लोहिया को नहीं पढ़ाया जाएगा तो क्या नाथूराम गोडसे को पढ़ाया जाएगा? ये बीजेपी के आरएसएस की चाल के तहत की जा रही है। इससे पहले नीट की परीक्षा में ओबीसी को आरक्षण से वंचित करने का प्रयास किया गया। अब यह कार्रवाई निश्चित रूप से उकसाने वाली है। इस कार्रवाई का पुरजोर विरोध करता हूं और सरकार से मांग करता हूं कि पूर्व की तरह इन महापुरुषों को पुनः पाठ्यक्रम में शामिल किया जाए।

खबरें और भी हैं...