पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षक नियोजन में धांधली का मामला:शिक्षक नियोजन मामले में कोर्ट में देंगे जनहित याचिका

निर्मलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीडीओ व बीईओ पर उगाही का आरोप
  • प्रमुख बोले- अध्यक्ष को सूचना तक नहीं, बगैर बैठक के नियोजन की प्रक्रिया शुरू

निर्मली में प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई द्वारा नियोजन समिति के अध्यक्ष को सूचना दिए बगैर आनन-फानन में धांधली के उद्देश्य से नियोजन की प्रक्रिया करने का मामला प्रकाश में आया है। प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई के अध्यक्ष सह प्रखंड प्रमुख रामप्रवेश कुमार यादव ने बुधवार को मामले का खुलासा किया। निर्मली स्थित कार्यालय में बुधवार को प्रमुख श्री यादव ने कहा कि निर्मली बीईओ व बीडीओ ने नियम-कानून की धज्जियां उड़ाते हुए मनमानी व फर्जी तरीके से नियोजन की प्रक्रिया की है। शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षक नियोजन नियमावली के अनुसार नियोजन इकाई के सदस्यों और अध्यक्ष को विधिवत रूप से लिखित जानकारी देनी है। नियोजन प्रक्रिया को लेकर बैठक भी की जानी थी। जिसमें नियोजन को लेकर आवेदनों पर विचार एवं अंतिम मेघा सूची की समीक्षा होनी थी। लेकिन ऐसा नही किया गया। इससे स्पष्ट होता है कि अभ्यर्थियों से मोटी रकम उगाही कर बीडीओ, बीईओ सहित शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारियों ने मिलकर इस कारनामे को अंजाम दिया है। इसे लेकर उच्च न्यायालय पटना में जनहित याचिका दायर करेंगे। इधर, प्रमुख सह परामर्श समिति के अध्यक्ष राम प्रवेश यादव ने कहा कि वैध नियोजन के मद्देनजर नियोजन संबंधित अंतिम मेधा सूची व उपस्थित पंजी पर अध्यक्ष का हस्ताक्षर तक नहीं लिया गया है।

खबरें और भी हैं...