पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:स्कूल को डिमांड के अनुसार चावल उपलब्ध नहीं, हेड मास्टर परेशान

सुपौल10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जनवरी में आवंटित चावल का अभिभावकों के बीच जुलाई में होगा वितरण
  • जिले के 1700 स्कूलों में अभिभावकों के बीच होगा चावल वितरित

छात्रों को मिड डे मील में गुणवत्तापूर्ण भोजन दिए जाने का दावा एक बार फिर हवा-हवाई दिख रहा है। छह माह पूर्व आवंटित चावलों को ही अभिभावकों के बीच वितरण की तैयारी में शिक्षा विभाग जुटा है। स्कूलों में छह माह पूर्व आवंटित चावल की गुणवत्ता रखरखाव के अभाव में समाप्त हो चुकी है। इधर, विभाग द्वारा चावल वितरण का निर्देश जारी होने के बाद विद्यालय के एचएम चावल की साफ सफाई में जुटे हैं।     विभागीय सूत्रों की माने तो जिले के लगभग सभी प्रखंडों में चावल का आवंटन जनवरी माह में किया गया था। शिक्षक अपनी मांगों के समर्थन में 17 फरवरी से हड़ताल पर चले गए थे। फिर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्कूल में शैक्षणिक क्रियाकलाप पूर्णत: बंद रहा। लगातार बंद होने के कारण विद्यालय में चावल की रखरखाव ढ़ंग से नहीं हो पाया। बरसात के कारण चावल नमीयुक्त हो गया है। कई विद्यालयों में चावल सड़े होने की बात भी सामने आ रही है। 

छात्र के अनुपाल में उपलब्ध नहीं है चावल : छात्र संख्या के अनुपात में चावल उपलब्ध नहीं होने से गुरुजी चावल वितरण को लेकर दुविधा में पड़े हैं। विभाग से मिले निर्देश के बाद चावल वितरण को लेकर गुरुजी बेचैन दिख रहे हैं। गुरुजी का कहना है कि स्टॉक में उपलब्ध चावल से स्कूल के सभी बच्चों को पूरा नहीं हो सकता है। ऐसे में अगर चावल वितरण शुरू करेंगे तो मारपीट भी हो सकती है। गुरुजी का कहना है कि जब तक विभाग से चावल उपलब्ध नहीं हो जाता है तब तक चावल वितरण शुरू नहीं किया जा सकता है। 

पिता लेकर जाएंगे चावल, बच्चों के खाते में भेजी जाएगी राशि
कोरोना से रोकथाम तथा ग्रीष्मावकाश को लेकर 80 दिनों की मिड डे मील का चावल छात्रों के अभिभावकों के बीच वितरण करना है। इसके लिए वर्ग एक से पांच तक के लिए आठ किलो तथा वर्ग छह से आठ तक के लिए 12 किलो चावल उपलब्ध कराना है। जबकि मिड डे मील की राशि छात्रों के बैंक खाते में भेजा जाना है। एक से पांच तक के छात्रों को प्रति छात्र 397 रुपए तथा छह से आठ तक के छात्रों को प्रति छात्र 596 रुपए की भुगतान करनी है। जो सीधे पटना से ही बच्चों के खाते में भेजी जाएगी। 

15 जुलाई तक नामांकन पखवाड़ा, प्रवासी छात्र व क्षीजित छात्रों का होगा नामांकन
अनामांकित छात्रों को विद्यालय तक पहुंचाने के लिए गुरुजी घर-घर घूम नामांकन में जुटे हैं। मालूम हो कि 1 जुलाई से 15 जुलाई तक नामांकन पखवाड़ा मनाया जाना है। इस पखवाड़े में स्कूल से बाहर के छात्र, प्रवासी छात्र तथा क्षीजित छात्रों का नामांकन करना है। इस अभियान को लेकर शिक्षकों में विभाग के प्रति नाराजगी है। शिक्षकों ने बताया कि नामांकन के लिए उन्हें कन्टेनमेंट जोन में भी जाना पड़ रहा है। साथ ही कई अभिभावकों व छात्रों से मिलना पड़ रहा है। ऐसे में कोरोना संक्रमण को लेकर डर बना हुआ है। शिक्षा विभाग बगैर कोई सुविधा दिए, क्षेत्र में भेज शिक्षकों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। 

छात्र संख्या व डिमांड के अनुसार 3 दिन के अंदर हो जाएगा चावल का आवंटन
पुराने स्टॉक के चावल जो खराब होंगे वह वितरण नहीं किया जाना है। इसके लिए सभी एचएम को निर्देश दिया गया है। छात्र संख्या डिमांड के अनुसार दो से तीन दिन के अंदर सभी स्कूलों को चावल उपलब्ध करा दिया जाएगा। उसके बाद ही वितरण शुरू किया जाएगा। - प्रेम रंजन, डीपीओ, एमडीएम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें