पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

86 साल पुराना सपना होगा साकार:कल सुपौल रेलवे स्टेशन से चलेगी सहरसा आसनपुर कुपहा डेमू ट्रेन, जुड़ेगा मिथिलांचल

सुपौल11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारत-नेपाल सीमा के लिए सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण कोसी रेल महासेतु का प्रधानमंत्री कल करेंगे वीसी से उद्‌घाटन
  • सुपौल-सरायगढ़-राघोपुर गेज कन्वर्जन व सरायगढ़-आसनपुर कुपहा नई रेललाइन होगी चालू

भारत-नेपाल सीमा के लिए सामरिक दृष्टिकोण से भी कोसी रेल महासेतु काफी महत्वपूर्ण है। इस परियोजना को कोविड महामारी के दौरान ही अंतिम रूप दिया गया, जिसमें प्रवासी श्रमिकों की भी सेवा ली गई। इस प्रकार कोसी क्षेत्र के लोगों का 86 वर्ष पुराना सपना अब साकार होने जा रहा है। प्रधानमंत्री ऐतिहासिक और चिर-प्रतीक्षित कोसी रेल महासेतु राष्ट्र को समर्पित करने के साथ ही सहरसा-आसनपुर कुपहा डेमू ट्रेन का सुपौल स्टेशन से शुभारंभ करेंगे। परिचालन प्रारंभ हो जाने के बाद सुपौल, अररिया और सहरसा जिले के लोगों को काफी लाभ होगा। इस क्षेत्र के लोगों के लिए कोलकाता, दिल्ली और मुंबई तक की लंबी दूरी की ट्रेनों से यात्रा करना काफी सुविधाजनक हो जाएगा। सहरसा-सरायगढ़-आसनपुर कुपहा रेलखंड की कुल लंबाई 64 किलोमीटर है। जिसमें सहरसा से सुपौल 26 किमी तक ट्रेनों का परिचालन जारी है। अब कोसी रेल महासेतु बन जाने के बाद सुपौल से आसनपुर कुपहा तक ट्रेन परिचालन का मार्ग प्रशस्त हो गया है। रेलवे की इस परियोजना पर 516 करोड़ की लागत आई है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 18 सितंबर को वीडियो कांफ्रेंसिंग से कोसी एवं मिथिला वासियों का बड़ी सौगात देंगे। पीएम श्री मोदी कोसी रेल महासेतु, सुपौल-सरायगढ़-राघोपुर गेज कन्वर्जन और सरायगढ़-आसनपुर कुपहा नई रेललाइन राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

वाजपेयी ने किया था शिलान्यास
मालूम हो कि बीते 23 जून को नवनिर्मित कोसी रेल महसेतु पर पहली बार ट्रेन का सफलतापूर्वक परिचालन किया गया था। करीब 1.9 किमी लंबे नए कोसी ब्रिज सहित 22 किमी लंबे निर्मली-सरायगढ़ रेलखंड का निर्माण वर्ष 2003-04 में 323.41 करोड़ रुपए की लागत से स्वीकृत किया गया था। इसके बाद 06 जून 2003 को तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने शिलान्यास किया था।

110 किमी स्पीड से हो चुका ट्रायल
सीसीआरएस श्री पाठक ने 14 अगस्त को ही पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल के 11 किमी लंबे आमान परिवर्तित सरायगढ़-राघोपुर रेलखंड का भी निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान मुख्य रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा 110 किमी प्रति घंटा की गति से स्पीड ट्रायल भी किया गया था। सीसीआरएस नेे भी संरक्षा एवं सुरक्षा मानकों को पूरा करते हुए सरायगढ़-राघोपुर पथ पर परिचालन की स्वीकृति दी।

सीसीआरएस ने अगस्त में ही दे दी थी स्वीकृति
सरायगढ़-आसनपुर कुपहा के बीच रेलवे के मुख्य संरक्षा आयुक्त शैलेश कुमार पाठक ने 3 अगस्त को पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल के कोसी ब्रिज के साथ 13 किमी लंबे सरायगढ़-आसनपुर कुपहा नई लाइन का सफलतापूर्वक निरीक्षण किया था। सीसीआरएस द्वारा 14 अगस्त को राघोपुर से अासनपुर कुपहा तक 110 किमी प्रति घंटा की गति से स्पीड ट्रायल भी किया गया था। 28 अगस्त को सीसीआरएस नेे संरक्षा एवं सुरक्षा मानकों को पूरा करते हुए कोसी ब्रिज पर 80 किमी और सरायगढ़-आसनपुर कुपहा रेलखंड पर 100 किमी प्रति घंटा की स्पीड से ट्रेनों के परिचालन की स्वीकृति दी थी। सुपौल-सरायगढ़ के बीच ट्रेन परिचालन की फरवरी में स्वीकृति मिली थी।

सीसीआरएस ने अगस्त में ही दे दी थी स्वीकृति
सरायगढ़-आसनपुर कुपहा के बीच रेलवे के मुख्य संरक्षा आयुक्त शैलेश कुमार पाठक ने 3 अगस्त को पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल के कोसी ब्रिज के साथ 13 किमी लंबे सरायगढ़-आसनपुर कुपहा नई लाइन का सफलतापूर्वक निरीक्षण किया था। सीसीआरएस द्वारा 14 अगस्त को राघोपुर से आसनपुर कुपहा तक 110 किमी प्रति घंटा की गति से स्पीड ट्रायल भी किया गया था। 28 अगस्त को सीसीआरएस नेे संरक्षा एवं सुरक्षा मानकों को पूरा करते हुए कोसी ब्रिज पर 80 किमी और सरायगढ़-आसनपुर कुपहा रेलखंड पर 100 किमी प्रति घंटा की स्पीड से ट्रेनों के परिचालन की स्वीकृति दी थी। सुपौल-सरायगढ़ के बीच ट्रेन परिचालन की फरवरी में स्वीकृति मिली थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें