पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रोत्साहन:बालिका वर्ग में नीलम व बालक में सत्यम प्रथम

सुपौल17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चेतना दिवस के पर क्रीड़ा भारती ने किया खेल प्रतियोगिता का आयोजन
  • दौड़ के साथ अन्य खेल प्रतियोगिताओं का किया गया आयोजन

क्रीड़ा भारती सुपौल द्वारा राघाेपुर प्रखंड के सिमराही स्थित जीडी ट्यूशन सेंटर सह क्रीड़ा केन्द्र में चेतना दिवस कार्यक्रम के अवसर पर दौड़ एवं अन्य खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। आयोजन की अध्यक्षता अनिल भगत ने की। मौके पर उपस्थित छात्रों ने खेल प्रतियोगिताओं में भाग लिया। पुरस्कार वितरण समारोह का शुभारंभ दीप प्रज्जवलित कर एवं स्वामी विवेकानन्द जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया। मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद भाजपा के जिला महामंत्री सुरेश कुमार सुमन ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि खेल के क्षेत्र में क्रीड़ा भारती सबसे बड़ी गैर सरकारी खेल संगठन है। जो बिना किसी सरकारी सहयोग के खेल कार्यक्रम आयोजित करती है। उन्होंने क्रीड़ा भारती को खेल एवं खिलाड़ियों के लिए समर्पित संगठन बताया।

पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रथम आई काजल

प्रांत मंत्री अमित कुमार ठाकुर ने कहा कि 11 सितंबर 1893 के दिन स्वामी विवेकानंद ने अमेरिका के शिकागो शहर में विश्व धर्म सम्मेलन में अपने कालजयी उद्बोधन से सनातन धर्म का परचम कराया था। अतिथियों ने बालिका वर्ग में प्रथम रही नीलम, द्वितीय आरती एवं तृतीय स्नेहा तथा बालक वर्ग में प्रथम रहे सत्यम, द्वितीय अभिनव एवं तृतीय विवेक को पारितोषिक एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं, सिमराही के काजल कुमारी को जिला स्तरीय पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर पुरस्कृत किया गया।

खेल से बनता है अनुशासन: रामावतार

कार्यक्रम संयोजक रामावतार मेहता ने बालक-बालिकाओं के उत्साह पूर्वक दौड़ प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सराहना करते हुए कहा कि खेल हमें अनुशासन एवं ध्येयनिष्ठ बनाती है। पुरस्कार वितरण समारोह का संचालन मुकुल दास ने किया। कार्यक्रम में व्यवस्थापक मिथलेश कुमार मलिक बम्बेश्वर कुमर, संदीप कुमार मेहता, रामविलास मेहता, शिक्षक रामनाथ चौधरी, पवन साह, दिलीप कुमार दीपक उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें