पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सांप काटने पर कराते रहे झाड़फूंक:अंधविश्वास ने बुझाया घर का चिराग

बलुआ बाजार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बलुआ बाजार मटियारी में सांप काटने के बाद छात्र की मौत पर शोकाकुल परिजन।
  • बलुआ बाजार पंचायत स्थित मटियारी वार्ड-15 में सर्पदंश से बालक की मौत

एक बार फिर अंधविश्वास के चक्कर में आकर एक घर का चिराग बुझ गया। जो बड़ा बेटा पढ़ाई के साथ-साथ ठेले पर चाय-नाश्ता भी बेचकर गुजर-बसर किया करता था मंगलवार को सांप काटने से उसकी जान चली गई। छातापुर प्रखंड के बलुआ बाजार पंचायत स्थित मटियारी वार्ड-15 में सोमवार की शाम को 13 वर्षीय बालक को सांप ने डस लिया, आधा घंटा झाड़फूंक के चक्कर में अस्पताल जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई। मृतक तीन भाइयों में सबसे बड़ा था और छठी कक्षा में पढ़ाई करता था। बताया जा रहा है कि मटियारी गांव निवासी विजय राम का पुत्र अजीत कुमार राम शाम अपने घर से बगल में शौच के लिए जा रहा था। तभी एक जहरीले सांप ने उसे डस लिया। हालांकि सर्प डसने के बाद भी उसे पता नहीं चला। लिहाजा उसने घर लौटने के बाद अपने परिजनों को जानकारी दी। जिसके बाद लोगों को सर्प डसने का पता चला। हालांकि इसके बाद परिजनों ने हॉस्पिटल ले जाने के बदले गांव में ही झाड़ फूंक पर भरोसा करते हुए लगभग अाधा घंटा समय बिता दिया। मृतक अपने दो भाई और एक बहन में सबसे बड़ा था। उनके परिजन का कहना था कि उक्त बालक छठी वर्ग में पढ़ाई करता था। परिजनों का कहना था कि पढ़ाई के साथ-साथ शाम के समय सुभान चौक पर वह ठेला लगाकर चाय-नाश्ता की दुकान भी करता था। जिससे किसी तरह घर का काम चल जाता था।

झाड़फूंक से ठीक नहीं हाेने पर तांत्रिक ने कहा-जल्दी हॉस्पिटल लेकर जाओ
घटना के बाद मृतक के परिजनों ने हॉस्पिटल के बजाय बलुआ विशनपुर में किसी ओझा के पास झाड़फूंक का सहारा लेना मुनासिब समझा। जिस वजह से करीब आधा घंटा तक झाड़फूंक होता रहा। लेकिन इसके बावजूद भी बालक का स्थिति सामान्य नहीं हाेने पर झाड़फूंक करने वाले व्यक्ति ने उसे जल्दी हॉस्पिटल ले जाने को कहा। जिस कारण बालक की स्थिति रास्ते में ही गड़बड़ होने लगी। हालांकि इस बीच परिजन झाड़फूंक करने वाले व्यक्ति का नाम बताने से इनकार कर दिया। इधर, बालक की स्थिति गंभीर को देख परिजन उसे करीब आधा घंटा बाद करीब 7 बजे हॉस्पिटल में भर्ती कराए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि बालक की मौत हॉस्पिटल जाने के क्रम में रास्ते में ही हो गई थी।

डॉक्टर बोले झाड़फूंक में बर्बाद किया समय
बहरहाल बालक की स्थिति गंभीर होते देख लोगों ने हॉस्पिटल ले जाने की बात कही। तब परिजनों ने आनन-फानन में बालक को वीरपुर हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने जांच के क्रम में उसे मृत घोषित कर दिया। स्थानीय लोगों की मानें तो परिजनों के द्वारा बालक को समय पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया होता तो उसकी जान बच सकती थी। इस झाड़फूंक के दरम्यान परिजनों ने अपना काफी समय बिता दिया और बालक का झाड़फूंक करवाते रहे। जिस कारण बालक की जान चली गई। इधर, बालक की मौत से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें