पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:ड्यूटी से गायब मिली डॉक्टर का वेतन रोका 1 किमी के दायरे से निजी दवा दुकानें हटेगी

तारापुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तारापुर अनुमंडल अस्पताल का डीएम ने किया निरीक्षण, कोताही पर प्रभारी को फटकारा

तारापुर अनुमंडल अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे डीएम नवीन कुमार ने ड्यूटी से गायब मिली महिला डॉक्टर नाजबानो का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया है। उन्होंने चिकित्सकों के रोस्टर ड्यूटी चार्ट को देखकर उसमें सबों का मोबाइल नंबर अंकित करने का निर्देश दिया। दवा के भंडारण एवं वितरण कक्ष में पहुंचे तथा उपलब्ध दवाओं के बारे में जानकारी लिया। 53 प्रकार की दवा की उपलब्धता फार्मासिस्ट ने बताया।

ओपीडी में एक ही जगह चिकित्सकों को बैठे देख कर नाराजगी जताई। प्रभारी उपाधीक्षक को निर्देश दिया कि अस्पताल में कमरे की कमी नहीं है।सभी विभाग से संबंधित चिकित्सक अलग-अलग कमरों में बैठेंगे। कमरों के बाहर उस चिकित्सा विभाग का नाम अंकित होगा। डीएम ने यह भी कहा कि है अस्पताल में अच्छे-अच्छे उपकरण उपलब्ध है। प्रशिक्षित टेक्नीशियन को भी भेजा गया है। परंतु जांच इसलिए नहीं होता है कि यहां के लोग बाहर जाकर जांच करा सकें। इसमें सुधार की आवश्यकता है।

अंचल व प्रखंड कार्यालय भी गए डीएम बिना मास्क देखकर सख्ती का निर्देश
इसके बाद डीएम प्रखंड कार्यालय पहुंचे। जहां परिसर में धूम्रपान निषेध से संबंधित बोर्ड लगाने का भी निर्देश दिया। यहां कार्य कराने के लिए आए हुए एक व्यक्ति को खैनी खाते हुए देखा। अधिकारी को अपनी गाड़ी पर बिठाने को कहा और जुर्माना वसूल कर छोड़ने की बात कही। कई लोगों को मास्क के बगैर देखा गया सीओ को वैसे लोगों से जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया।

जीएनएम और आशा के वेतन का 10 दिन में करें भुगतान: डीएम
अस्पताल में आए मरीजों से यह जानने का प्रयास किया कि उन्हें दवा बाजार से कौन-कौन लानी पड़ती है। मरीजों ने कहा कि दवा अस्पताल में ही मिल जाती है। जीएनएम और आशा कार्यकर्ता का वेतन एवं मानदेय 10 दिनों में भुगतान करने का निर्देश दिया। अस्पताल में भर्ती मरीजों से खानपान के संबंध में जानकारी ली और उत्तर से संतुष्ट दिखे।

प्रसूता वार्ड सहित सभी कक्ष का किया निरीक्षण
डीएम ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में अस्पताल से एक किमी के दायरे में अथवा अस्पताल के प्रवेश द्वार के समक्ष किसी भी प्रकार का निजी क्लीनिक व मेडिकल स्टोर नहीं होना चाहिए। प्रभारी उपाधीक्षक डा. बीएन सिंह से कहा कि आपको चिकित्सा विभाग के नियमों की जानकारी नहीं है। यह कहकर उन्होंने प्रभारी को फटकारा भी। डीएम की नाराजगी पर अस्तपाल के पास स्थित दवा दुकान हटाए जाएंगे। डीएम द्वारा प्रसूती वार्ड सहित सभी कक्ष का भौतिक सत्यापन किया गया।

खबरें और भी हैं...