पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंपस अलर्ट:आरएस कॉलेज में नहीं माना गया कुलपति का आदेश

तारापुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पंजीयन भरने को लेकर आरएस कॉलेज में इंतजार करते छात्र व छात्राएं। - Dainik Bhaskar
पंजीयन भरने को लेकर आरएस कॉलेज में इंतजार करते छात्र व छात्राएं।
  • छात्रों की सुविधा के लिए छुट्‌टी के दिन भी कॉलेज खोलने का था आदेश, जो नहीं माना गया

कुलपति के आदेश को भी कॉलेज प्रबंधन नहीं मान रहा है। मामला तारापुर के आरएस कॉलेज का है। दरअसल मुंगेर विश्वविद्यालय के स्नातक सत्र 2020-23 के हो रहे पंजीयन को लेकर रविवार को छुट्टी का दिन होने के बाद भी कॉलेज को खोलने का आदेश कुलपति ने दिया था। जिसका उल्लंघन करते हुए आरएस कॉलेज प्रबंधन ने खुद से ही छुट्टियां घोषित कर दी। बता दें कि मुंगेर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर श्याम प्रसाद राय ने गुरुवार को आदेश जारी किया था की पंजीयन को लेकर रविवार को भी विवि के सभी कॉलेज खुले रहेंगे। इस आदेश के अनुसार रविवार को जब छात्र-छात्राएं कॉलेज पहुंची तो कंप्यूटर कक्ष को छोड़कर बाकी सभी कार्यालय बंद पड़े मिले। तीन-चार घंटे इंतजार के बाद भी कोई भी कर्मचारी नहीं पहुंचे थे। छात्र-छात्राओं ने जब अभाविप के कार्यकर्ताओं को इसके बारे में बताया तो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गौतम राज, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य करुण शर्मा, तारापुर नगर मंत्री रोशन वत्स व आरएस कॉलेज अध्यक्ष संरूप सत्यम महाविद्यालय पहुंचे। प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गौतम राज व करुण शर्मा ने बताया कि विवि के कुलपति ने छात्र हित को देखते हुए यह आदेश जारी किया था कि रविवार को भी पंजीयन हेतु महाविद्यालय खुले रहेंगे परंतु यहां के प्रभारी प्राचार्य सहित सभी कर्मियों ने मनमानी करते हुए महाविद्यालय को बंद ही रखा। इस तरह के कॉलेज प्रशासन के मनमानी विद्यार्थी परिषद कतई बर्दाश्त नहीं करेगी और कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कड़ी से कड़ी सजा के लिए हम लोग विवि से मांग करेंगे।

कॉलेज के प्राचार्य ने नहीं उठाया फोन
नगर मंत्री रोशन वत्स और कॉलेज अध्यक्ष संरूप सत्यम ने कहा कि एक तो पहले जाति गलत होने के कारण पंजीयन नहीं किया गया। जिसके लिए छात्र छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ा और अब जब विद्यार्थी परिषद के आंदोलन से बाध्य होकर कोटी सुधार कर पंजीयन का तिथि लागू किया है तो कॉलेज की मनमानी से परेशानी उठाना पड़ रहा है। मामले में कॉलेज के प्राचार्य उदय शंकर दास का पक्ष जानने के लिए उनके मोबाइल नंबर 73618 89596 पर फोन किया गया। लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

खबरें और भी हैं...