पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:कर्मियों की कमी से जूझ रहा अंचल कार्यालय, व्यवस्था चरमराई

ठाकुरगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ठाकुरगंज अंचल कार्यालय। - Dainik Bhaskar
ठाकुरगंज अंचल कार्यालय।
  • 21 पंचायत वाले ठाकुरगंज प्रखंड में अंचल कार्यालय में सहायकों की कमी से कामकाज हाे रहे बाधित

इन दिनों ठाकुरगंज अंचल कार्यालय का संचालन भगवान भरोसे चल रहा है। 31 अगस्त प्रधान सहायक लिपिक के सेवानिवृत्त होने के बाद व्यवस्था चरमाने लगी है। कर्मियों की कमी से अंचल क्षेत्र के लोगों को राजस्व संबंधित कार्यों के लिए अनावश्यक विलंब का सामना करना पड़ रहा है। 21 पंचायतों वाले ठाकुरगंज प्रखंड में अंचल कार्यालय में सहायकों के कमी के कारण जनहित के काम सहित नजारत का काम भी ठप चल रहा है। जिससे लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। अंचल के कार्य से आने वाले लोगों को हर रोज कार्यालय का चक्कर काटना पड़ता है। जिला के आलाधिकारियों के उदासीन रवैये के कारण कर्मियों की नियुक्ति नहीं होने से लोगों का अंचल से कार्य करवाना डेढ़ी खीर साबित हो रही है। वर्षो से दर्जनों पद पड़े हैं रिक्त : अंचल निरीक्षक का एक पद स्वीकृत है लेकिन वह खाली पड़ा है। इसी तरह प्रधान सहायक लिपिक व लिपिक के 7 पद स्वीकृत है। सभी खाली हैं। 23 राजस्व कर्माचारियों के स्वीकृत पद पर केवल 5 राजस्व कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। तुलना में राजस्व कर्मचारी के 18 पद रिक्त हैं। वहीं 4 चपरासी में भी केवल एक ही चपरासी अंचल कार्यालय में तैनात हैं। जिसके कारण जमीन नापी की फाइलें, अगलगी की घटना के लाभार्थियों को दिये जाने वाली सहायता राशि भुगतान की फाइलें, राजस्व राशि का संग्रह, भूमि विवाद के मामले, आरटीआई के मामले, कोर्ट के मामले , लोक सुचना निवारण के मामले, भू-अर्जन का कार्य आदि फाइलों का निष्पादन लगातार बाधित हो रहा है।

क्या कहते हैं सीओ
सीओ ओमप्रकाश भगत का कहना है कि एक प्रधान सहायक लिपिक के सहारे बहुत सारे कार्यो का निष्पादन किया जा रहा था। लेकिन 31 अगस्त के सेवानिवृत्त होने के बाद कर्मियों के अभाव में कार्य बाधित हो रही है। जिला को कर्मियों की तैनाती के लिए लिखित व मौखिक रूप से मांग की गई है। लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं होने से कार्यों के निष्पादन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...