पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

उपेक्षा:चार माह में 32512 लाभुक आंगनबाड़ी की राशि से वंचित

त्रिवेणीगंज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जून से सितंबर के बीच महज जुलाई माह की राशि डीबीटी से मिली, 53106 हैं लाभुक

प्रखंड में कोरोना के चलते बच्चों को भूख और कुपोषण से निजात दिलाने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों की गतिविधियों पर विराम सा लग गया है। अब अपनी 17 सूत्री मांगों को लेकर सेविका व सहायिका के हड़ताल पर चले जाने से पोषण पखवाड़ा, टीकाकरण, गृह-भ्रमण जैसे कल्याणकारी योजनाएं भी प्रभावित हो रही है। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना समेत अन्य लाभकारी योजनाएं भी हड़ताल की भेंट चढ़ गई। परिणाम स्वरूप बाल विकास परियोजना अपने उद्देश्य से दूर होती दिखाई दे रही है। आईसीडीएस का लाभुकों को डीबीटी के माध्यम से लाभ देने की योजना भी फ्लॉप होती नजर आ रही है। जिसके चलते बच्चे, गर्भवती, धातृ महिलाएं कुपोषण की शिकार हो रही है। कोरोना काल में अभी जून से सितंबर के बीच डीबीटी के माध्यम से 32515 लाभुकों को राशि से वंचित होना पड़ा है। मालूम हाे कि बच्चों को कुपोषण से निजात दिलाने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों से लाभुकों को डीबीटी से जोड़ा गया।

सेविकाएं कह रहीं डीबीटी अपलोड लाभुक कर रहे शिकायत
सेविकाओं द्वारा शत-प्रतिशत डीबीटी अपलोड किया जा चुका है। लेकिन लाभार्थियों द्वारा बताया जाता है कि डीबीटी के माध्यम से लाभ नहीं मिला है। कहीं न कहीं तो काई तकनीकी गड़बड़ी है।
प्रभा कुमारी, प्रभारी सीडीपीओ

53106 में कोरोना काल में 20594 को ही मिला लाभ, बांकी को नहीं मिली राशि
गौरतलब है कि बाल विकास परियोजना कार्यालय त्रिवेणीगंज द्वारा प्रखंड क्षेत्र में 53106 लाभुकों को डीबीटी से जोड़ा गया। जिसमें बच्चों की संख्या 44188 एवं धातृ महिलाओं की संख्या 4118 के अलावे गर्भवती 4751 शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि विभाग की शिथिलता के चलते मई माह में टीएचआर का वितरण नही कराया जा सका। जबकि लाभांवित लाभुकों की सूची डीबीटी के लिए मई माह में अपलोड किया गया। बदहाली का आलम यह है कि जून से सितंबर माह के दूसरे सप्ताह में महज जुलाई माह का डीबीटी द्वारा राशि विभाग से प्राप्त हुई। जिसमें 20594 लाभुकों को ही राशि हस्तांतरित की गई है। शेष बचे 32422 लाभार्थी विभाग की ओर टकटकी लगाए बैठे हैं। 6 माह से 3 वर्ष तक के सामान्य एवं कुपोषित बच्चों को 200 रुपए, 6 माह से 3 वर्ष के अतिकुपोषित बच्चों को 300 रुपए, 3 से 6 वर्ष के बच्चों को 135 रुपए के अलावे गर्भवती व धातृ महिलाओं 237.50 रुपए की दर से खाते में भेजे जाने का निर्देश है। जबकि हर महीने 15 से 30 तारीख तक टीएचआर का वितरण किया जाता था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें