नहीं दी अनुमति / टेंडर के बावजूद गाछपाड़ा से टेंगड़मारी तक बांध निर्माण की फ्लड कंट्रोल कमेटी ने नहीं दी अनुमति

X

  • 2017 में इसी जगह बांध तोड़कर शहर में बाढ़ के पानी ने मचाई थी तबाही

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

किशनगंज. 21 करोड़ की लागत से गाछपाड़ा से टेंगड़मारी तक महानंदा के किनारे चार किलोमीटर बांध बनाने की निविदा रद्द हो चुकी है। रद्द होने का कारण गंगा फ्लड कंट्रोल कमेटी द्वारा अनुमति नहीं देना माना जा रहा है। साथ ही इस बांध के निर्माण को टेक्निकल अनुमति भी नहीं मिली। वर्ष 2017 में यहीं से महानंदा नदी ने बांध तोड़कर शहर में भारी तवाही मचाई थी।

महानंदा की धारा वापस अपनी धारा में जाने के बाद तत्कालीन डीएम एवं अधीक्षण अभियंता पूर्णिया ने इसका मुआयना कर चार किलोमीटर तटबंध का एस्टीमेट बनाकर विभाग को भेजा था। विभाग ने इसकी स्वीकृति  देने के बाद टेंडर भी जारी किया पर यह परियोजना रद्द कर दी गई।

कार्यपालक अभियंता जल निस्सरण अशोक कुमार यादव ने कहा पांच मई 2020 को कटाव निरोधात्मक कार्य करने के लिए छह संवेदकों के साथ इकरारनामा हुआ है। जिले के 10 जगहों पर  संवेदकों को 31 मई तक कार्य संपन्न करने का निर्देश दिया गया है। विभाग से खाली सीमेंट का दो लाख बोरा 10 हजार नायलॉन बैग मिला है, जिसे भंडार में रखा गया है। जरूरत पड़ने पर फ्लड फाइटिंग में इसका उपयोग। किया जाएगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना