निर्णय:विवाह समारोह के लिए रात्रि 10 बजे से नाइट कर्फ्यू

उदाकिशुनगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार को धर्मशाला संचालकों के साथ बैठक करते एसडीएम व एसडीपीओ। - Dainik Bhaskar
गुरुवार को धर्मशाला संचालकों के साथ बैठक करते एसडीएम व एसडीपीओ।
  • विवाह समारोह के लिए अब 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोग ही हो सकते हैं शामिल

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए गुरुवार को एसडीएम राजीव रंजन कुमार सिन्हा व एसडीपीओ सतीश कुमार ने संयुक्त रूप से अनुमंडल कार्यालय में विवाह भवन संचालक, धर्मशाला संचालक और वरिष्ठ नागरिकों के साथ बैठक कर दिशा-निर्देश जारी किया। इस दौरान उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र के सभी धर्मशाला संचालक व अन्य की जवाबदेही निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दिशा-निर्देश के उल्लंघन मामले में दोषी पाए जाने पर जवाबदेही निर्धारित करते हुए आईपीसी की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की सुसंगत धारा के अधीन संचालकों पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। उदाकिशुनगंज अनुमंडल इलाके के सभी धर्मशाला संचालक व अन्य के लिए जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि विवाह समारोह के लिए रात्रि 10 बजे से नाइट कर्फ्यू प्रभावी रहेगा। वहीं विवाह समारोह के लिए 50 व्यक्तियों की अधिसीमा व अंतिम संस्कार के लिए 20 व्यक्तियों की सीमा तय की गई है।

अब किसी भी समारोह में डीजे के प्रयोग पर पूरी तरह से रहेगी रोक
एसडीएम ने कहा कि किसी भी समारोह में डीजे का प्रयोग पूर्णतः प्रतिबंधित है। अगर कोई आयोजक इसका इस्तेमाल कराता है, तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि आयोजन स्थल पर फेस मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करना अनिवार्य है। इसके लिए आयोजक की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय की गई है। बैठक में बताया गया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए संभव हो तो घर से बाहर ही नहीं निकलें। जरूरत पड़ने पर मास्क पहन कर ही घर से बाहर निकलें। हल्का सा भी परेशानी महसूस हो तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर तत्काल कोविड की जांच कराएं। इस दौरान एडीपीओ सतीश कुमार ने कहा कि हर किसी को कोविड की गाइडलाइन का अनिवार्य रूप से पालन करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...