ताजिया जुलूस:चेहल्लुम पर निकला आकर्षक ताजिया, बाहर से मंगाए गए थे कई ताजिया

आरा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मोहर्रम के 40 दिन बाद मनाया जाने वाला इस्लाम धर्म के पवित्र त्यौहार चेहल्लुम पर शनिवार को शहर में आकर्षक ताजिया निकाला गया। शहर में कई वर्षों के बाद इतना ज्यादा संख्या में ताजिया दिखा। ताजिया जुलूस के दौरान हाथी- घोड़े गाजे-बाजे के साथ कलाकारों द्वारा आकर्षक कलाबाजी दिखी।

शहर की हृदयस्थली गोपाली चौक व शीशमहल चौक श्रद्धालुओं से देर रात तक खचा-खच भरा रहा। मोती, सीप, थर्मोकोल व कपड़ो पर जरी का काम किया आकर्षक ताजिया आरा शहर में देखने को मिला। मक्का-मदीना, मह्जिदी, सिपल, घोड़ैया एवं दुलदुल समेत कई आकार के ताजिया ढोल नगाड़े व बैंड बाजे के साथ लोगों को काफी आकर्षित कर रहे थे।

ताजिया की उचाई करीब20 से 40 फिट थी। शहर के बाहर से मगाये गए लाइटिंग के साथ रंग बिरंगे ताजिया को देख लोग हतप्रभ थे। जुलूस में हस्से-हुस्से, नारा-ऐ- तकबीर अल्लाहो अकबर के नारे श्रद्धालु लगा रहे थे। शहर के तरी मोहल्ला, नवादा, बरहबतरा, बेगमपुर, दुधकटोरा, चिकटोली, अबर पुल, पकड़ी , कर्मन टोला समेत करीब एक दर्जन से ऊपर जगहों से ताजिया निकाला गया।

शहर के गोपाली चौक,, धर्मन चौक एवं शीश महल चौक पर कलाकारों ने गोल बनाकर आकर्षक कलाबाजी, तलवारबाजी व कई करतब का प्रदर्शन किया। ताजिया जुलूस को लेकर प्रशासनिक व्यवस्था भी काफी चुस्त-दुरुस्त दिखी।

खबरें और भी हैं...