पुलिस कार्रवाई:बालू तस्करी के खिलाफ तरारी प्रखंड में छापेमारी

आरा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अवैध बालू धंधेबाजों के खिलाफ संयुक्त छापेमारी करते पीरो एसडीओ व एसडीपीओ। - Dainik Bhaskar
अवैध बालू धंधेबाजों के खिलाफ संयुक्त छापेमारी करते पीरो एसडीओ व एसडीपीओ।

अवैध बालू खनन और ओवरलोडिंग के लिए तरारी प्रखंड का इलाका काफी कुख्यात रहा है। लेकिन, जिला मुख्यालय आरा से काफी दूर होने के कारण आमतौर पर खनन विभाग पुलिस विभाग या परिवहन विभाग वरी छापेमारी नहीं करता। इस वजह से बालू तस्करों और सरकारी तंत्र की मिलीभगत से सोन नदी के तट इलाकों में ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देशों के विपरीत अवैध बालू खनन किया जाता है। गंवई रास्तों से धड़ल्ले से ट्रैक्टरों के काफिले बिना चालान वाले बालू की ट्रांसपोर्टिंग करते हैं। साथ ही कुछ ट्रक ऑनर्स के गैंग्रीन बालू ओवरलोडिंग का गैरकानूनी काम करते हैं।

लेकिन भोजपुर जिले में नए डीएम राजकुमार के पदस्थापन होने के साथ ही शनिवार को धंधे वालों के खिलाफ छापेमारी की गई। डीएम के निर्देश पर तीरो अनुमंडल के एसडीओ अमरेंद्र कुमार और एसडीपीओ राहुल सिंह ने तरारी प्रखंड में बृहद छापेमारी अभियान चलाया। कुल 23 बालू लदे वाहनों को ओवरलोडिंग और बिना चालान के बालू ले जाने के दौरान जब्त किया।

एसडीपीओ राहुल सिंह ने बताया कि पीरो थाना क्षेत्र से 6, सिकरहटा थाना क्षेत्र में 7 ट्रैक्टर और 2 ट्रक, तरारी थाना में 4 ट्रैक्टर, ईमादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत 3 डंपर और 1 ट्रक को पुलिस ने जब्त किया गया है। सभी जब्त वाहनों के मालिकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ज्ञात हो कि ईमादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बालू के अवैध कारोबार धड़ल्ले से चलने के कारण सरकार की लाखों रुपये की राजस्व की हानि प्रतिदिन हो रही है। अवैध तरीके से बालू ले जा रहे ट्रैक्टरों का सड़कों पर रात में इतनी संख्या रहती है।

खबरें और भी हैं...