सफर होगा सुगम:फोरलेन सड़क बनाने के लिए भूमि चिह्नित करने का कार्य हुआ शुरू

आरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कायमनगर-धरहरा के बीच सड़क के लिए जमीन चिह्नित करने का कार्य करवाते सदर सीओ व अन्य। - Dainik Bhaskar
कायमनगर-धरहरा के बीच सड़क के लिए जमीन चिह्नित करने का कार्य करवाते सदर सीओ व अन्य।

कोईलवर के कायमनगर से लेकर उदवंतनगर के जीरोमाइल मोड़ तक जल्द ही फोरलेन सड़क बनाने का कार्य शुरू होगा। इसके लिए जमीन चिन्हित करने का कार्य शनिवार से शुरू हो गया। पहले दिन जमीन चिन्हित करने का कार्य कायमनगर में सदर अंचलाधिकारी राजकुमार के नेतृत्व में पदाधिकारी और कर्मियों की टीम ने किया। इसके बन जाने से शहर में लगने वाले जाम से काफी हद तक निजात मिलेगी।

कायमनगर से लेकर जीरोमाइल का वर्तमान में सड़क की चौड़ाई सात मीटर है। फोरलेन सड़क बनाने के लिए अब इसकी चौड़ाई 21 मीटर हो जाएगी। सड़क की चौड़ाई बढ़ाने के लिए विगत दिनों पथ निर्माण विभाग ने सदर एसडीओ से जमीन चिन्हित पर अतिक्रमण मुक्त करने की मांग की थी। इस के बाद जमीन चिन्हित करने के साथ अतिक्रमण हटाने के लिए सदर एसडीओ ने शुक्रवार को सदर अंचलाधिकारी के नेतृत्व में पदाधिकारी और कर्मियों की टीम बनाई थी।

सभी को जल्द से जल्द जमीन चिन्हित कर अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया है। अंचल प्रशासन के द्वारा जैसे ही जमीन चिन्हित करने के साथ अतिक्रमण मुक्त कर पथ निर्माण विभाग को सौंपी जाएगी, इसके बाद सड़क बनाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इस माह तक अतिक्रमण हटा दिया जाएगा। अगले माह से सड़क निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। 8.50 किलोमीटर लंबी सड़क बनाने में लगभग ₹92 करोड़ की लागत आएगी।

तेरह पदाधिकारी और कर्मचारियों की एसडीओ ने बनाई है टीम
सड़क बनाने के लिए जमीन चिन्हित करने के साथ अतिक्रमण हटाने के लिए सदर एसडीओ लाल ज्योति नाथ शाहदेव ने 13 पदाधिकारियों और कर्मचारियों की टीम बनाई है। इसमें आरा सदर सीओ राजकुमार, राजस्व पदाधिकारी शैलेंद्र कुमार, पथ निर्माण विभाग के सहायक अभियंता संजीव कुमार और राहुल रंजन तथा कनीय अभियंता विनोद कुमार शामिल है।

इसमें आरा सदर के सीआई सुरेश कुमार, राजस्व कर्मी शशि रंजन, अनिल पंत, लक्ष्मण केसरी, अमीन फिरोज आलम, राज किशोर और कोईलवर के अमीन शिवकुमार तथा उदवंतनगर के अमीन रजनीश कुमार के अलाव दर्जनों स्थानीय थाने के पुलिस पदाधिकारी और सुरक्षा बल शामिल हैं। फोनलेन बनने से आसपास के लोगों की काफी सहूलियत होगी।

बिहारी मिल से ले धोबीघटवा तक है सबसे ज्यादा अतिक्रमण
कायमनगर से जीरोमाइल के बीच में सबसे ज्यादा सड़क का अतिक्रमण बिहारी मिल से लेकर धोबीघटवा होते हुए जीरोमाइल मोड़ तक किया गया है। सदर अंचलाधिकारी राजकुमार ने बताया कि 21 फीट चौड़ी सड़क बनाने के लिए जमीन चिन्हित करने के साथ अतिक्रमणकारियों को 1 से 2 दिनों का समय अतिक्रमण हटाने के लिए दिया जाएगा। एक-दो दिन के बाद अतिक्रमण नहीं हटाने पर बुलडोजर चलवा कर सभी अतिक्रमण को हटाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...