25 सितंबर तक अंतिम तिथि:बिहार बोर्ड ने छात्र-छात्राओं के लिए जारी की 13 अंकों की यूनिक आईडी

बक्सर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक परीक्षा में शामिल होने वाले सभी परीक्षार्थियों के लिए 13 डिजिट का बीएसईबी यूनिक आईडी जारी किया है। 2023 की परीक्षा से इसकी शुरुआत की गई है।

बिहार बोर्ड ने इसे लेकर सभी हाई स्कूल के प्रभारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। इस वर्ष से 13 डिजिट का बीएसईबी यूनिक आईडी का प्रावधान किया गया है। जो मैट्रिक परीक्षा 2023 के लिए पंजीकृत परीक्षार्थियों के मूल पंजीयन कार्ड में अंकित है। छात्रों को इसे परीक्षा आवेदन फॉर्म में अनिवार्य रूप से भरना है। बता दें कि बोर्ड ने छात्रों के मूल पंजीयन कार्ड के साथ परीक्षा फार्म को भी अपलोड कर दिया है, और सभी स्कूल प्रभारियों को सही ढंग से भरवाने को लेकर निर्देश जारी किया है।

सामान्य कोटि के लिए 980 रुपए परीक्षा शुल्क लिया जाएगा। जबकि आरक्षित कोटि के लिए 865 रुपए परीक्षा शुल्क लिए जाएंगे। व्यावहारिक परीक्षा शुल्क विज्ञान और ललित कला के परीक्षार्थियों के लिए है। दो प्रति में भरा जाएगा फॉर्म बोर्ड ने निर्देश दिया है कि सभी स्कूल प्रभारी ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड कर लेंगे और इसकी प्रति विद्यार्थियों को उपलब्ध कराएंगे। दो प्रति में फार्म भरे जाएंगे। इसमें एक प्रति पर विद्यालय प्रधान हस्ताक्षर मुहर और तिथि अंकित करते हुए छात्र छात्राओं को वापस कर देंगे, और दूसरी प्रति विद्यालय के प्रधान के पास रहेगा।

बकाया पंजीयन शुल्क की राशि भी 25 सितंबर तक जमा करना आवश्यक है। बोर्ड ने यह भी निर्देश दिया है कि परीक्षा फार्म के काॅलम 12 में अभ्यर्थी का आधार नंबर अंकित किया जाएगा।

अगर अभ्यर्थी का आधार कार्ड नंबर आवंटित नहीं हुआ है तो इसकी घोषणा कलम 13 में अनिवार्य रूप से की जाएगी। ऐसे छात्र छात्रा जिनका आधार नंबर उपलब्ध रहेगा। उन्हीं को प्राप्त प्रमाण पत्र डीजी लॉकर में बोर्ड के द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। ऑनलाइन फॉर्म भरते समय मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी व आधार नंबर रहना अनिवार्य है।

खबरें और भी हैं...