हैंडपंप खराब है तो पीएचईडी कंट्रोल रूम को दें सूचना:बक्सर में अभी तक 2108 हैंडपंप की हो चुकी मरम्मत, पेयजल किल्लत पर निर्देश

बक्सर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

गर्मी की आहट शुरू होते ही अब ग्रामीण क्षेत्रों के साथ शहरी क्षेत्रों में पेयजल किल्लत की समस्या शुरू होने लगी है। गर्मी के चलते अब भू-जल स्तर कम होने लगा है। ऐसे में कुएं, तालाब, नहर व नदी-नालों में पानी धीरे-धीरे सूखने लगा है। स्थिति ये है कि जिले के शहर व ग्रामीण इलाकों में नलों से भी पर्याप्त पानी नहीं आ रहा है। वहीं अंतिम छोर पर रहने वाले लोगों तक नाममात्र का पानी ही पहुंच पा रहा है। उधर, जिले में पेयजल किल्लत की ज्यादा समस्या है।जिले के गांव, शहरों में गर्मी के दिनों में डीएम ने पर्याप्त जलापूर्ति के निर्देश दिए है। वहीं जिन स्थानों पर हैण्डपंप खराब है, वहां सभी हैण्डपंपों की मरम्मत कराने के निर्देश दिए है।

2108 चापाकलों की हुई है मरम्मत

जिला अंतर्गत सभी प्रखंडों में पेयजल समस्या से निजात दिलाने हेतु चलंत मरम्मती दलों द्वारा प्रतिदिन 40 से 50 चापाकालो की मरम्मती कराया जा रहा है। अब तक जिला के कुल 2108 चापाकलों की मरम्मती कराकर चालू करा दिया गया है। प्राथमिकता के आधार पर स्कूलों एवं महादलित टोला में चापाकालो की मरम्मती कराया जा रहा है। किसी भी सरकारी चापाकल के बंद होने अथवा पेयजल समस्या की सूचना बक्सर जिला के पीएचईडी कंट्रोल रूम के नंबर 06183-295053 पर सुबह 10:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक फोन कर सूचना दिया जा सकता है।

बक्सर जिला के सभी प्रखंडों के सभी पंचायतों के सभी वार्डो में हर घर नल का जल से भी जलापूर्ति किया जा रहा है। पेयजल से संबंधित किसी प्रकार की समस्या होने पर विभाग के कंट्रोल रूम अथवा टोल फ्री नंबर 18001231121 पर फोन कर जानकारी दी जा सकती है।

खबरें और भी हैं...