बक्सर में लगा सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन:10 रुपए में मशीन देगा तीन नैपकिन का एक पैक, महिलाओं को होगी सहूलियत

बक्सर5 महीने पहले
बक्सर में लगा सैनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन।

बक्सर जिले में पहली बार ,सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग और उसे नष्ट करने की मशीन लगाई गई है।जो बक्सर में बन रहे 1320 मेगा वाट थर्मल पावर की पूर्ण स्वामित्व वाली एसजेवीएन कम्पनी द्वारा यह पहली मशीन चौसा PHC को सौंपा गया है। जिसे हॉस्पिटल परिसर में फिट कर दिया गया है।महिलाएं व छात्राएं मशीन में 10 रुपये का सिक्का डालकर आसानी से तीन पैड ले सकती हैं।क्षेत्र में सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराने वाली जिले की पहली नगर पंचायत चौसा है।बता दे कि कई बार झिझक के कारण ग्रामीण महिलाएं दुकानों से सेनेटरी नैपकिन नहीं ले पाती हैं। महिलाओं की असुविधा को देखते हुए नगर पंचायत के पीएचसी को सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन दी गई है। साथ ही उपयोग के बाद नष्ट करने की मशीन भी लगाई गई है।

कैसे प्राप्त कर सकते है नैपकिन

बता दे कि हास्पिटल में लगे मशीन से नैपकिन प्राप्त करने के लिए महिलाओं को 1 रुपये के दस सिक्के या 5 रुपये के दो सिक्का या 10 रुपये के एक सिक्के की आवश्यकता पड़ेगी ।जो मशीन क्वाइन डालने वाली जगह में जैसे ही सिक्के डालेंगे मशीन निचे बनाये बॉक्स में नैपकिन का पैक फेकेंगी

कहते है प्रभारी

इस संबंध में PHC के प्रभारी डॉक्टर अरुण कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि महिलाओं को इंफेक्शन से बचाने के लिए यह एक बहुत अच्छा प्रयास है। उन्होंने बताया कि अक्सर हास्पिटल पर गांव देहात की महिलाएं आती है। अधिकतर अधिकतर महिलाओं में नैपकिन खरीदने को लेकर संकोच रहता है। वे मेडिकल स्टोर में जाकर सैनेटरी नैपकिन लेने से परहेज करती हैं। ग्रामीण महिलाएं व छात्राएं अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह बनीं रहती हैं, जिससे अधिकांश महिलाएं ल्यूकोरिया की बीमारी से त्रस्त हैं। उनके स्वास्थ्य को देखते हुए यह मशीन स्थापित की गई है। मशीन लगने से PHC में आने वाली महिलाएं ,छात्राओं और महिला कर्मचारियों को सुविधा मिलेगी।ऐसे में यह मशीनें सहायक बन सकेंगी।

नैपकिन नष्ट करने की लगी है मशीनसेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन से सेनेटरी नैपकिन मिल जाएगा। उपयोग किए गए नैपकिन को नष्ट करने के लिए सेनेटरी नैपकिन इंसीनरेटर मशीन भी लगाई गई है। इसके उपयोग किए जाने से नैपकिन को सुरक्षित तरीके से डिस्पोज किया जा सकेगा। इससे लड़कियों की शारीरिक स्वच्छता के साथ पर्यावरण को भी स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी।

खबरें और भी हैं...