मनरेगा योजना:अमृत सरोवर योजना से तालाब का जीर्णोद्धार, खर्च होंगे ₹9.85 लाख

सिमरी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रकलन बोर्ड का फीटा काट उद्गाटन करती प्रमुख। - Dainik Bhaskar
प्रकलन बोर्ड का फीटा काट उद्गाटन करती प्रमुख।

गांवों के भू-जल स्तर में सुधार करने व उनकी खूबसूरती में चार चांद लगाने के लिए आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सिमरी प्रखण्ड के काजीपुर पंचायत में मनरेगा के तहत अमृत सरोवर तालाब का निर्माण करवाया जाएगा। जिसका उद्गाटन शनिवार को प्रखण्ड प्रमुख प्रियंका पाठक व पंचायत मुखिया इम्तियाज अंसारी ने फीता काट कर किया। चयनित तालाब एक एकड़ से अधिक है।

इसका जीर्णोद्धार कराने में मनरेगा योजना के तहत 9 लाख 84 हजार 559 की राशि खर्च किया जा रहा है। जिसमे पंचायत के बेरोजगार मजदूरों को कार्य भी दिया जाएगा । मुखिया इम्तियाज अंसारी ने बताया कि इस योजना में सोमवार से कार्य लगाया जाएगा।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के दौरान 24 अप्रैल को अमृत सरोवर योजना की शुरुआत की। इसके तहत सभी जिलों में 75 तालाब का निर्माण कराया जाना है।

अमृत सरोवर का इस तरह का होगा स्वरूप
प्रखण्ड सिमरी मनरेगा तकनीकी सहायक राजाराम कुमार ने तलाब के स्वरूप में बताया कि पहले तालाब की खुदाई कर गहरा किया जाएगा और उस सरोवर में पानी जाने के लिए आउटलेट और इनलेट बनाए जाएंगे। इसके लिए 6 पाइंट पर हुमायूं पाइप लगाया जाएगा । ताकि बरसात का जल इस पाइप के माध्यम से तलाब में गिरे। वही तालाब में उतरने के लिए रैंप बनेंगे। साथ ही तालाब के चारों तरफ ट्रैक बनाया जाएगा। कार्य पूरा होने के बाद इस तलाब के ऊपरी हिस्से पर जल जीवन हरियाली अभियान के तहत पौधारोपण भी किया जाएगा । वैसे पौधारोपण इस प्रकलन में नही है । लेकिन इस तलाब को कुछ माह में पार्क का स्वरूप दिया जाएगा । बैठने के लिए बेंच लगेंगी और चबूतरों का निर्माण कराया जाएगा। यहां एक सामुदायिक शौचालय और एक-एक सामुदायिक भवन भी बनाए जाएंगे। इन स्थलों का उपयोग सार्वजनिक कार्यों के लिए भी हो सकेगा।

मनरेगा के तहत तलाब का काम
प्रखंड कार्यक्रम पादधिकारी नुरुल हुदा ने बताया कार्य रोजगार गारंटी योजना महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत कराया जाएगा। वही काजीपुर पंचायत में इस तालाब को चयन कर योजना में लिया गया था। जो करीब 1 एकड़ 4 डिसमिल है। इसमें करीब 9 लाख 84 हजार 558 राशि खर्च हो रहा है।

'अमृत सरोवर केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना से भू-जल स्तर में सुधार होगा। जिले में 75 अमृत सरोवर का निर्माण कराना है। फिलहाल पुराने तालाबों को अमृत सरोवर के रूप में जीर्णोद्धार के लिए चिह्नित किया गया है। सरोवर जीर्णोद्धार की विभागीय स्तर पर प्रक्रिया शुरू हो गई है।'
-कुंदन कुमार, डीपीओ, मनरेगा बक्सर

खबरें और भी हैं...