मिथिला विभूति पर्व:बच्चियों ने मां दुर्गा की वंदना करते हुए शुंभ-निशुंभ व महिषासुर का वध किया

दरभंगा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में नृत्य करती सृष्टि फाउंडेशन की कलाकार। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम में नृत्य करती सृष्टि फाउंडेशन की कलाकार।

मिथिला विभूति पर्व स्वर्ण जयंती समारोह के पहले दिन सृष्टि फाउंडेशन की श्रेया मिश्रा ने कवि कोकिल विद्यापति रचित गोसाउनि गीत जय-जय भैरवि... गीत पर ओडिशी नृत्य की शैली में भावपूर्ण नृत्य की प्रस्तुति दी।

इसी कड़ी में इशिता शर्मा, समृद्धि महासेठ, सुकृति कुमारी, आराध्या चौधरी, शारदा कुमारी, शरण्या गुप्ता और प्रिया प्रभाकर ने हे गिरी नंदनी पर ओडिशी नृत्य की शैली पर भावपूर्ण नृत्य कर देवी के नौ रूपों की व्याख्या अपने नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत कर आगंतुक अतिथियों का मन मोह लिया।

बच्चियाें ने माता दुर्गा की वंदना करते हुए शुंभ-निशुंभ राक्षसों का वध करते हुए महिषासुर का वध ओडिशी नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत कर उपस्थित सभी दर्शकों को मंत्र मुग्ध किया। अंत में देवी के नौ रूपों का वर्णन नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत करते हुए नृत्य को समाप्त किया।

खबरें और भी हैं...