पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू का डर:प्रभावती अस्पताल में पेड़ से लटकते मिले 3 मृत कौए, दहशत

गया8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अधिकारी बोले- अभी तक बर्ड फ्लू का मामला नहीं, प्रखंड से लेकर जिला तक काम कर रही है रैपिड रिस्पांस टीम

प्रभावती अस्पताल में पेड़ से लटकते तीन मृत कौए देखे गए हैं। संक्रामक रोग वाले वार्ड में रहे दो अलग-अलग वृक्षों पर यह देखा गया। इसे लेकर यहां रहने वाले थोड़े आशंकित भी हैं, कि कहीं यह बर्ड फ्लू के खतरे का संकेत तो नहीं। हालांकि जिला पशुपालन पदाधिकारी डा. अनिल कुमार के मुताबिक अभी तक गया जिले में बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं आया है।

एक-दो पक्षियों के मरने की बात सामने आने पर जांच टीम को भेजा जाता है। लक्षणों के आधार पर प्रथम दृष्टतया साफ किया जाता है, कि इसमें बर्ड फ्लू से जुड़े कोई लक्षण तो नहीं हैं। प्रभावती अस्पताल में भी इस तरह की बात सामने आई थी, जिसके बाद वहां भी जांच टीम को भेजा गया है। फिलहाल बर्ड फ्लू के कोई संकेत नहीं हैं। पतंग उड़ाने वाले धागे में फंसकर मौत की बात सामने आई है।

यदि बर्ड फ्लू होता तो पेड़ पर लटकने के बजाए मृत कौए सीधे नीचे गिर जाते। वैसे बता दें, कि कुछ दिन पहले भी प्रभावती अस्पताल में पांच कौए के मरने की बात सामने आई थी। वहीं अब दो दिन पूर्व दो अलग-अलग वृक्षों पर इस तरह से कौए मृत मिले हैं।

पॉल्ट्री फार्म से रैंडम सैंपलिंग किया जा रहा: जिला पशुपालन पदाधिकारी डा. अनिल कुमार ने बताया कि बर्ड फ्लू को लेकर तमाम एहतियात और सतर्कता बरती जा रही है। पॅाल्ट्री पदाधिकारी द्वारा पॉल्ट्री फॉर्म से रैंडम सैंपलिंग किया जा रहा है। स्वाब, सीरम भी लिए जा रहे हैं। साईंटिफिक तरीके से जांच की प्रक्रिया को पूरा किया जा रहा। बताया कि खाने वाले को बर्ड फ्लू नहीं होता है, क्योंकि इसके वायरस 30 डिग्री तापमान पर खत्म हो जाते हैं। पॉल्ट्री के धंधे से जुड़े लोग को यह इफेक्ट कर सकता है।

उपकरण के साथ फील्ड में जाने का है निर्देश: बताया कि प्रखंड से लेकर जिला तक में रैपिड रिस्पांस टीम गठित की गई है। डॉक्टर, कर्मचारी और सहायक को टेक्निकल उपकरण लेकर फील्ड में जाने का निर्देश दिया गया है। पशुपालन विभाग की टीम पूरे तौर पर एक्शन में है। वहीं इनका कहना है कि बाहर से पक्षी आकर भी बर्ड फ्लू फैला सकते हैं। बाहरी पक्षरी साइबेरियन यहां आते हैं। डा. अनिल कुमार ने अपील किया कि यदि कहीं पक्षी मरते हैं तो इसकी सूचना विभाग को दी जाए।
प्रथम तौर पर प्रांतीय चिकित्सालय, संकेत होने पर भोपाल व कोलकाता भेजते हैं सैंपल
जिला पशुपालन पदाधिकारी डा. अनिल कुमार के मुताबिक प्रथम तौर पर बर्ड फ्लू की जांच गया में रहे प्रांतीय चिकित्सालय में की जाती है। संकेत मिलने पर सेम्पल को भोपाल या कोलकाता भेजा जाता है। फिलहाल आवश्यक कई कदम उठाए गए हैं, जिसमें पॉल्ट्री फार्म में छिड़काव के लिए दवा आदि भी वितरित किए गए हैं। प्रखंड से जिला तक की व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए एम्बुलेंस से लैस चार डॉक्टर की टीम हर प्रखंड या शहरी क्षेत्र से बनाई गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser