• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • 9 thousand 600 expatriates landed from 15 trains, 1 train would fall on the second platform as soon as it was empty

वापसी / 15 ट्रेनों से उतरे 9 हजार 600 प्रवासी, 1 ट्रेन खाली होते ही दूसरी प्लेटफार्म पर लग जाती

9 thousand 600 expatriates landed from 15 trains, 1 train would fall on the second platform as soon as it was empty
X
9 thousand 600 expatriates landed from 15 trains, 1 train would fall on the second platform as soon as it was empty

  • आरपीएफ, जीआरपी व मेडिकल टीम के छूटे पसीने, परिसर से खुली बसों में खचाखच भीड़
  • मुम्बई, पूणे, सूरत, बैंगलुरू सहित देश के अन्य राज्यों से पहुंची ट्रेनें, छतों पर सफर को मजबूर हुए लोग

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

गया. गया जंक्शन पर शनिवार को 19 घंटे के अंदर 14 स्पेशल ट्रेनों से 9 हजार 600 प्रवासी उतरे। वहीं जंक्शन से गुजरने वाली ट्रेनों में  गंतव्य के लिए 665 प्रवासियों को विभिन्न जिलों के लिए ट्रेन में बैठाया गया। मुम्बई,  पूणे, सूरत, बैंगलुरू सहित देश के अन्य राज्यों से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से प्रवासी गया जंक्शन पहुंचे। सुबह व शाम को स्थिति ये रही कि एक ट्रेन खाली होती नहीं की दूसरी प्लेटफार्म पर खड़ी हो जाती। वहीं तीसरी की भी आने की उद्दघोष हो जाता।

इससे दिनभर जंक्शन पर व्यवस्था को लेकर कार्यरत रेलकर्मी, आरपीएफ, जीआरपी व स्क्रीनिंग कार्य में लगे मेडिकल टीम व अन्य के पसीने छूट गए। आलम ये रहा कि थोड़ी देर रूक रूककर ड्यूटी बजानी पड़ी। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से उतरने वाले यात्रियों को कतारबद्ध कर थर्मल स्क्रीनिंग की गई। प्रवासियों को क्वारेंटाइन मुहर व पंजीकरण करने के बाद प्लेटफार्म के बाहर निकाला गया। दोपहर को आई ट्रेन से कुछ प्रवासियों का बॉडी टेम्प्रेचर हाई मिला।

जिन्हें पानी पिलाने व आराम कराने के बाद दोबारा जांच के बाद तापमान सामान्य मिला। कोई भी संदिग्ध नहीं मिला। नई दिल्ली भूवनेश्वर राजधानी स्पेशल सुबह के बजाए शाम को पहुंची। इससे पड़ोसी जिलों से ट्रेन के सफर को आए लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। जंक्शन से गुजरने वाली दा ट्रेनों में पानी व नास्ता प्रवासियों को उपलब्ध कराया। 700 प्रवासियों को आरपीएफ ने खाना दिया।
सूरत से आई दो ट्रेनें समेत अन्य से  उतरे प्रवासी
सूरत-गया (दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन),  पूणे-गया,  बैंगलुरू-गया, गया दानापुर, क्षत्रपति महाराज शिवाजी टर्मिनल-गया, आनंद बिहार-जहानाबाद, वापी-कोडरमा, अलीगढ़-गुवाहाटी, पालनपुर-कटिहार, जामनगर-बांका,  नई दिल्ली-भूवनेश्वर राजधानी स्पेशल, वीरमगाम-देवघर, कर्मनाशा-मुजफ्फरपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन से प्रवासी गया जंक्शन उतरे।
बसों में जगह नहीं, छतों पर किया सफर
जंक्शन उतरने वाले बिहार के विभिन्न जिलों के प्रवासियों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से बसों की व्यवस्था की गई थी। लेकिन शनिवार को प्रवासियों की संख्या अधिक होने से बसें खचाखच भरी थीं। जगह नहीं मिलने पर बस की छतों पर प्रवासी यात्रा को मजबूर हुए। लगातार ट्रेनों से उतरने के कारण परिसर में प्रवासियों  की काफी भीड़ इक्कठा थी।
जयपुर से मुक्त 118 बाल श्रमिकों में 20 आज पटना से पहुचेंगे गया
बोधगया: राजस्थान के जयपुर में विभिन्न कारखाने में काम करने वाले बिहार के 118 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया। पुलिस अभिरक्षा में सभी को ट्रेन से बिहार लाया जा रहा है। रविवार (24 मई) को ट्रेन अहले सुबह पटना जंक्शन पहुंचेगी। मुक्त 118 बच्चों में बिहार के मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, कटिहार, अरवल, जहानाबाद, नवादा, सीतामढ़ी, बेगुसराय, मधुबनी, समस्तीपुर, वैशाली, गया एवं दरभंगा जिले के हैं। राज्य सरकार द्वारा कोविड -19 के संदर्भ में जारी किये गये मार्गदर्शिका का पालन करते हुए उन्हें संबंधित जिलों में स्थानांतरित किया जाएगा। 20 बच्चे गया जिले के हैं, उन्हें पटना से गया लाया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना