बिहार में सामान्य से आठ तो गया में 53% कम:वैज्ञानिकों की मानें, तो अगले 48 घंटों तक गया में झमाझम बारिश की कोई संभावना नहीं

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मॉनसून का ‘रूठापन’ - Dainik Bhaskar
मॉनसून का ‘रूठापन’

मॉनसून का ‘रूठापन’ गयावासी झेल रहे है। प्री-माॅनसून सीजन (मार्च, अप्रैल व मई) में भी गया सूखा रहा। हल्की बूंदाबांदी को जोड़ दे तो इन तीनों माह में मात्र 7.2 एमएम वर्षा हुई है। जून में मॉनसून के प्रवेश के बाद मात्र एक दिन 29 जून को झमाझम वर्षा हुई थी। करीब 44.2 एमएम वर्षा इस दिन रिकॉर्ड की गई थी। वहीं पूरे जून माह में 72.4 मिलीमीटर बारिश हुई। जुलाई माह में अभी चार दिन शेष बीते है, इसमें 6.1 एमएम वर्षा हुई है।
कुल मिलाकर देखा जाए तो अभी तक 78.5 एमएम वर्षा गया में हुई है। यह वर्षा सामान्य से 53 परसेंट और वर्ष 2021 के मुकाबले 300 परसेंट कर्म वर्षा है। वहीं पूरे बिहार में आठ परसेंट वर्षा सामान्य से कम है। वैज्ञानिकों की माने तो वर्षा के लिए जुलाई और अगस्त माह काफी महत्वपूर्ण है। अगर इन दो माह में गया में अच्छी वर्षा नहीं हुई तो सूखा पड़ सकता है।
अगले 48 घंटों तक वर्षा के चांस नहीं
मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक एस.के.पटेल ने बताया कि गया में अगले 48 घंटों तक वर्षा के चांस नहीं है, हालांकि जिले के एक-दो हिस्सों में हल्की बूंदाबांदी की संभावना है। उन्होंने बताया कि जुलाई और अगस्त माह वर्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है।
अगर इन दो माह में गया में अच्छी वर्षा नहीं होती है, तो गया में सुखाड़ की स्थिति होगी, लेकिन जिस तरह का मौसम दिख रहा है फिलहाल सुखाड़ की स्थिति नहीं बनेगी।
जुलाई माह में हुई
वर्षा का आंकड़ा
माह वर्षा (एमएम)
2021 270.8
2020 279.0
2019 256.5
2018 690.1
2017 416.8
2016 428.3
2015 372.6
2014 282.2
2013 90.8
2012 249.2
2011 101.4
माॅनसून का ट्रफ लाइन भी बिहार-यूपी से बढ़ा आगे
मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि मॉनसून का ट्रफ लाइन भी बिहार-यूपी से आगे बढ़ रहा है। इस कारण अगले पांच दिनों तक मुसलाधार बारिश नहीं होगी, पर उड़ीया व झारखंड में एक्टिव चक्रवात अगर अपनी दिशा बदलती है तो 14 से 15 जुलाई को गया में भी वर्षा के चांस बनेंगे। उन्होंने बताया कि जिले के कुछ हिस्सों में लो प्रेशर एरिया के कारण हल्की वर्षा हो सकती है।

36.2 डिग्री रहा गया का अधिकतम पारा
तापमान की बात करें तो सोमवार को जिले का अधिकतम तापमान 36.2 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्स. रिकॉर्ड किया गया है। नमी सुबह में 81 तो शाम में 64 फीसदी दर्ज की गई है। वहीं रविवार को जिले का अधिकतम तापमान 35.8 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्स. रिकॉर्ड किया गया था।

चक्रवाती परिसंचरण का गया में इफेक्ट नहीं

श्री पटेल ने बताया कि उत्तर उड़ीसा और उससे सटे दक्षिण झारखंड और गंगोय पश्चिम बंगाल पर निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। चक्रवाती परिसंचरण समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है, पर इस परिसंचरण का गया में इफेक्ट नहीं होगा। उन्होंने बताया कि अगर दक्षिण झारखंड के बजाए उत्तरी झारखंड में यह चक्रवात एक्टिव होता है तो गया में भी झमाझम वर्षा होती।

खबरें और भी हैं...