स्टेशन मास्टर अमरजीत बनेंगे अब वेलफेयर ऑफिसर:बीपीएससी परीक्षा में हासिल किया 458वां रैंक, ज्योति डीएसपी पद की बढ़ाएंगी शोभा

गया18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

धैर्य, लगन और मेहनत हो तो कोई भी मंजिल मुश्किल नहीं होती है। अमरजीत ने इसे एक बार फिर से साबित कर दिया है। बतौर रेलवे स्टेशन मास्टर कार्यरत अमरजीत ने अपने लक्ष्य का पीछा करना कभी नहीं छोड़ा, जिसका नतीजा यह निकला कि उन्हें अपना लक्ष्य हासिल हुआ, जो दूसरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बन सकता है।

बनवारीपुर गांव निवासी अशर्फी प्रसाद चौरसिया तथा उषा देवी के पुत्र अमरजीत चौरसिया ने 65 वीं बीपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की है। उन्हें 458 वां रैंक मिला है। वे ब्लॉक वेलफेयर ऑफिसर के रूप में कार्य करेंगे। अमरजीत ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता,गुरुजनों के अलावा अपने मामा आईआरएस अधिकारी सरोज कुमार को विशेष रूप से दिया है। कहा कि मामा ने निरंतर उनका मार्गदर्शन किया तथा हमेशा प्रोत्साहित करते रहे। सही दिशा में निरंतर प्रयास करने वालों को सफलता जरूर मिलती है।

पहले प्रयास में डीएसपी बन ज्योति ने बेगूसराय का नाम किया रौशन
बेगूसराय - मन में कुछ कर गुजरने का जुनून हो तो बाधाएं भी मंजिल हासिल करने से नहीं रोक सकती है और सफलता आपकी कदम चुमेंगी। कुछ ऐसा ही कर दिखाया ज्योति कुमारी बीपीएससी में सफलता हासिल कर। सिंचाई विभाग से सेवानिवृत्त लाखो पंचायत के वार्ड संख्या आठ निवासी वेषधारी सिंह के पुत्र प्रदीप कुमार सिंह की पत्नी ज्योति कुमारी ने 65वीं बीपीपीएस परीक्षा में 363वीं रैंक हासिल कर डीएसपी बन बेगूसराय जिला का नाम रौशन की है।

ज्योति की इस सफलता पर लाखो गांव और बरौनी थाना क्षेत्र के हाजीपुर गांव में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। हाजीपुर गांव निवासी सेवानिवृत्त मलेरिया पदाधिकारी परमानंद सिंह की तीसरी पुत्री ज्योति कुमारी की प्राइमरी शिक्षा रांची में हुई। इसके बाद पटना साइंस कॉलेज से इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी कर एनआईटी दुर्गापुर से बीटेक की।

दूसरे प्रयास में पाई सफलता,बीपीएससी में मिली 107वीं रैंक
भगवानपुर - प्रखण्ड के काजीरसलपुर पंचायत के रघुनन्दनपुर निवासी उमेश चौधरी के पुत्र शशि चंदन चौधरी ने बीपीएससी की परीक्षा मे 107 वाँ रैंक लाकर अपने परिवार समेत भगवानपुर प्रखंड का नाम रौशन किया। उन्होंने द्वितीय प्रयास में यह सफलता हासिल की है। उनका चयन बिहार शिक्षा सेवा संवर्ग में हुआ हुआ है। किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले शशि चंदन दो भाई व एक बहन है।

उन्होंने वर्ष 2002 में झारखंड के एडीएल सोसायटी हाई स्कूल जमशेदपुर से प्रथम श्रेणी से मैट्रिक व करीम सिटी कॉलेज जमशेदपुर से वर्ष 2004 में इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की। वर्ष 2011 में एनआईटी पटना से कंप्यूटर साइंस से बीटेक की डिग्री हासिल की। वर्तमान में शशि चंदन बेंगलोर में एजीएओ डॉट कॉम में जॉब कर रहे हैं। 65वीं बीपीएससी परीक्षा में उन्होंने 107वां रैंक हासिल किया। उनके पिता उमेश चौधरी किसान हैं। उनकी माता सुनीता देवी गृहिणी है।

खबरें और भी हैं...