नई व्यवस्था:आंगनबाड़ी सेविकाओं को मिलेगी प्री-स्कूलिंग की ट्रेनिंग

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आंगनबाड़ी केंद्र। - Dainik Bhaskar
आंगनबाड़ी केंद्र।
  • पायलट स्टडी के रूप में पहले दिव्यांग बच्चों की देखरेख के लिए किया जाएगा प्रशिक्षित

प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सरकारी विद्यालयों में भी प्री-स्कूलिंग के बारे में सरकार सोंच रही है। इसके लिए आंगनबाड़ी सेविकाओं काे प्रशिक्षित किया जाएगा। पायलट स्टडी के तौर पर फर्स्ट फेज में सेविकाओं को कक्षा में दिव्यांग बच्चों की देखरेख व उन्हें प्रोमोट करने की जिम्मेवारी दी जाएगी। अभी यह व्यवस्था सरकारी विद्यालय परिसर में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों में रहेगी।

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्राथमिक शिक्षा व सर्व शिक्षा अभियान उपेंद्र कुमार सिंह ने इस बाबत जिला प्रोग्राम पदाधिकारी को पत्र भेजकर विद्यालय परिसर में संचालित वैसे आंगनबाड़ी केंद्र जहां दिव्यांग बच्चों का नामांकन है की सूची उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के समावेशी शिक्षा प्रभाग अंतर्गत इस कार्यक्रम को संचालित किया जाएगा। संभाग प्रभारी सह एपीओ मो. आसिफ अली ने बताया कि स्कूल कैंपस में संचालित केंद्रों की सूची मिलते ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

सभी जिलों में 27 दिसंबर से शुरू होगी ट्रेनिंग
बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक के निर्देशानुसार अरवल, किशनगंज, नवादा, सहरसा, शिवहर, सीतामढ़ी व वैशाली को छोड़कर सभी जिलों में 27 दिसंबर से प्रशिक्षण सह उन्मुखीकरण कराने की योजना है। जिन आंगनबाड़ी केंद्रों में दिव्यांग बच्चे पंजीकृत हैं और आंगनबाड़ी केंद्र सरकारी विद्यालय कैंपस में अवस्थित हैं, वैसे केंद्र की सेविकाओं का चयन प्राथमिकता के तौर पर प्रशिक्षण के लिए किया जाना है। सदर प्रखंड में आयोजित होनेवाले प्रशिक्षण में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (आईसीडीएस) व अन्य प्रखंडों में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी की सहभागिता सुनिश्चित रहेगी। प्रशिक्षण स्थल व समय का निर्धारण डीपीओ आईसीडीएस से मिलकर करने का निर्देश दिया गया है ताकि प्रशिक्षण में किसी तरह का अवरोध उत्पन्न नहीं हो सके।

प्रशिक्षक के रूप में नामित होंगे बीआरपी व संसाधन शिक्षक
निदेशक ने प्रशिक्षक के रूप में संसाधन शिक्षक, पुनर्वास विशेषज्ञ व प्रखंड साधनसेवी को नामित करने का निर्देश दिया है। प्रशिक्षण सह उन्मुखीकरण में दिव्यांगता का अर्थ, संकल्पना, प्रकार, पीडब्ल्यूडी एक्ट 2016, दिव्यांगता का प्रभाव व प्रारंभिक हस्तक्षेप, आवश्यक उपकरण, अध्यापन शिक्षण सामग्री और समग्र शिक्षा अभियान अंतर्गत उपलब्ध सेवाओं व सुविधाओं पर चर्चा होगी। प्रशिक्षण में कोविड-19 के संदर्भ में सरकार द्वारा जारी आदेश का पालन और उसी के अनुरूप बैच निर्धारण का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...