पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदलाव:महाबोधि मंदिर परिसर से लाइव होने पर रोक

गया19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुरक्षा कारणों से बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति ने 6 फरवरी को आदेश जारी कर लगाई रोक

महाबोधि मंदिर के सार्वभौमिक मूल्यों व संवेदनशीलता का ख्याल रखते हुए अब मंदिर परिसर में मोबाइल से लाइव करने पर रोक लगा दी गई है। बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति ने इस संबंध में 06 फरवरी को आदेश जारी रोक लगा दी है। सचिव नांजे दोरजे ने जारी आदेश में कहा है कि जिन लोगों व बीटीएमसी कर्मियों को मोबाइल अनुमति पास बीटीएमसी द्वारा दी गई है, वे भी लाइव कवरेज नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि सुरक्षा कारणों से इसपर रोक लगाई गई है। कई लोगों को मंदिर परिसर में घुम-घुम कर लाइव स्ट्रीमिंग फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया पर प्रसारित करते देखा गया व इस तरह की शिकायत मिली है।

ड्यूटी पर तैनात सुरक्षाकर्मियों व बीटीएमसी कर्मियों को ऐसे देखे जाने पर रोक लगाने का निर्देश दिया गया है। जरूरत पड़ने पर लाइव करने के लिए बीटीएमसी किसी व्यक्ति को अधिकृत कर अनुपति पत्र देगा। 07 जुलाई 2013 को मंदिर परिसर में बम ब्लास्ट के बाद मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्राॅनिक गजट पर रोक है, बावजूद बीटीएमसी कुछ लोगों को पास जारी कर मोबाइल ले जाने की अनुमति देता है।

विशेष शाखा पटना ने भी रोक के लिए भेजा था पत्र
20 दिसंबर 2019 को विशेष शाखा पटना ने इन्हीं कमियों को लेकर डीएम व एसएसपी को एक पत्र भेजा था, जिसमें 17 प्वाइंटों पर सुधार को कहा था। खासकर बोधगया मंदिर प्रबंधकारिणी समिति(बीटीएमसी) पर अंगुली उठाई थी। वास्तव में, विश्व धरोहर होने के कारण महाबोधि मंदिर की संवेदनशीलता बढ़ गई है।

बावजूद उचित मानक के अनुसार उसकी सुरक्षा व व्यवस्था नहीं है। महाबोधि मंदिर में सात जुलाई 2013 को सीरियल बम ब्लास्ट व 19 जनवरी 2018 को मिले बम के बाद सुरक्षा की जो व्यवस्था होनी चाहिए, वह अब भी नहीं दिख रही है। इसके संरक्षक ही तय मानकों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें