आस्था:ढोल नगाड़े के साथ बड़ी काली मां की प्रतिमा विसर्जित, लगाए गए जयकारे

गया25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गया शहर के टिल्हा धर्मशाला के पास स्थापित की गई मां काली की भव्य प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जाते श्रद्धालु, अन्य कई प्रतिमाओं का भी किया गया विसर्जन। - Dainik Bhaskar
गया शहर के टिल्हा धर्मशाला के पास स्थापित की गई मां काली की भव्य प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जाते श्रद्धालु, अन्य कई प्रतिमाओं का भी किया गया विसर्जन।
  • प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर जगह-जगह पर मुस्तैद थे पुलिस जवान, आज भी प्रतिमाओं का विसर्जन

शहर के टिल्हा धर्मशाला काली बाड़ी मुहल्ले में विराजमान बड़ी काली मां की प्रतिमा का विसर्जन शनिवार को ढोल नगाड़े व माता के जयकारे के साथ किया गया। माता के विसर्जन को लेकर पूजा समिति द्वारा एक भव्य शोभा यात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा शहर के विभिन्न मार्गो का भ्रमण करते हुए सरोवर के पास पहुंची, जहां पर मां काली की प्रतिमा का विसर्जन किया गया।

इस बीच भक्ति गीतों व माता के जयकारे के साथ युवक-युवतियां खूब थिरके। वहीं माता के अंतिम दर्शन के लिए सड़कों पर जनसैलाब दिखा, जिस-जिस जगह से मां काली गुजरी, माता के चरण स्पर्श के लिए श्रद्धालु उतावले दिखे। काली बाड़ी के अलावे रामसागर मुहल्ले में भी विराजमान मां काली की प्रतिमा का विसर्जन गाजे-बाजे के साथ किया गया।

बता दें कि इस साल काली बाड़ी, रामसागर कलाली मोड़, मार्कण्डेय मंदिर, चांद चौरा दुर्गा स्थान, दखिन दरवाजा, लहेरिया टोला, नवागढ़ी, बागला स्थान, दु:खहरणी मंदिर सहित अन्य स्थानों पर मां काली भव्य रूप में विराजमान थी। इधर विसर्जन से पूर्व शुक्रवार की रात भंडारा का भी आयोजन हुआ, जिसमें लोगों के बीच पूड़ी, सब्जी, खीर, खिचड़ी बांटी गई।

खबरें और भी हैं...