डिप्टी मेयर के साथ रहने वाला शख्स निकला शराब तस्कर:हावड़ा मुम्बई एक्सप्रेस से शराब लेकर आ रहा था, RPF ने पकड़ा

गया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गया नगर निगम के डिप्टी मेयर अखौरी ओंकार नाथ उर्फ मोहन श्रीवास्तव के साथ किसी साए के माफिक हरदम साथ रहने वाला अजीत कुमार शराब का बड़ा तस्कर निकला। अजीत और उसके एक साथी दीपक को आरपीएफ ने गया स्टेशन से शराब की बोतलों के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

पकड़ा गया अजीत अपने किसी आका के लिए या फिर किसी और के लिए महंगी शराब की 30 बोतलें लेकर गया स्टेशन पर उतरा था। इस बात का खुलासा इमानदारी से की गई जांच के बाद ही हो सकेगा। लेकिन यह सच है कि वह डिप्टी मेयर के साथ हर दम साए के माफिक साथ-साथ वह चलता था। इस मामले में जब डिप्टी मेयर से पक्ष जानने के लिए लगातार दो बार मोबाइल फोन किया गया पर उन्होंने फोन नहीं उठाया।

आरपीएफ के उपनिरीक्षक जावेद इकबाल ने बताया कि हावड़ा मुम्बई ट्रेन पहुंची और उससे दो युवक उतरे। उन दोनों की नजर जब पुलिस बल पर पड़ी तो तेजी से वह निकलने लगे। इस पर पुलिस को शक हुआ और उन्हें कुछ दूर चल कर पकड़ लिया गया। पकड़े गये युवकों से पिठ्‌ठू बैग में क्या है से संबंधित जानकारी मांगी गई तो वे पुलिस बल को गुमराह करने लगे।

डिप्टी सीएम के पीछे काली शर्ट में अजीत कुमार (लाल घेरे में), डिप्टी मेयर के साथ हमेशा रहा था।
डिप्टी सीएम के पीछे काली शर्ट में अजीत कुमार (लाल घेरे में), डिप्टी मेयर के साथ हमेशा रहा था।

इस पर शक और भी गहराया। दोनों युवकों के कंधे पर लटक रहे पिठ्‌ठू बैग की तलाशी ली गई तो उसमें से शराब की बोतलें निकलीं। दोनों बैैग से 30 बोतलबंद शराब बरामद की गई। इस पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गए दोनों युवक शहर के नई गोदाम झीलगंज मुहल्ले के रहने वाले हैं। सूत्रों का यह भी कहना है कि पकड़ा गया अजीत नगर निगम का दैनिक वेतन भोगी है। उसे डिप्टी मेयर अपने साथ ही रखते थे। कुछ का यह भी कहना है कि वह बतौर निजी अंगरक्षक काम कर रहा था। वहीं दूसरे सूत्रों का कहना है कि वह डिप्टी मेयर का अर्दली के रूप में काम करता था। यही वजह है कि वह हर बड़े-छोटे कार्यक्रम में डिप्टी मेयर के साथ अक्सर दिखता रहा है।