संपत्ति विवाद में भूले रिश्ते:रॉड से प्रहार कर भतीजों ने मिलकर आर्टिस्ट रहे चाचा को मार डाला, शव को पहाड़ी पर फेंका

गया19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़, इंसेट में मृतक की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़, इंसेट में मृतक की फाइल फोटो।
  • पिटाई के दौरान जाने बचने की गुहार लगा रहा था चाचा, मूक दर्शक बने खड़े थे मोहल्लेवासी

बुनियादगंज थाना अंतर्गत जोड़ा मस्जिद (बड़ी इनारा) पुराने थाना के पीछे सम्पत्ति विवाद में सगे भतीजे ने अपने ही चाचा की लोहे के रॉड से पीट-पीटकर हत्या कर दी। हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद साक्ष्य छुपाने के लिए शव को पहाड़ी के समीप फेंक दिया। पुलिस ने चंदौती थाना अंतर्गत कटारी हिल एफसीआई स्थित पहाड़ी के पास से शव की बरामदगी कर ली है। यह हद थी, कि दो भतीजे अपने सगे चाचा के साथ मारपीट कर रहे था और वह अपनी जाने बचने की गुहार लगा रहा था। उस वक्त घर मे मौजूद अन्य सहोदर भाई व मोहल्ले वासी मूक दर्शक बने खड़े थे।

पहले भी किया हमला, इस बार जान ले ली
बुनियादगंज थाना क्षेत्र के बड़ी इनारा जोड़ा मस्जिद निवासी अनिल शर्मा उर्फ विनायक का अपने भाई सुनील शर्मा 40 वर्ष के साथ लंबे समय से सम्पत्ति को लेकर विवाद चल रहा था। इसी मामले को लेकर पहले भी अनिल शर्मा उर्फ विनायक व उसके बेटों द्वारा सुनील पर जानलेवा हमला किया गया था। उक्त मामले में तत्कालीन थानाध्यक्ष द्वारा अनिल शर्मा के दो बेटों को जेल भेजा गया था। इधर, गुरुवार की रात करीब 8 बजे अनिल शर्मा उर्फ विनायक के बेटे प्रिंस व गोलू द्वारा अपने चाचा सुनील शर्मा के मारपीट शुरू कर दिया। रॉड आदि से प्रहार कर उसे गंभीर कर दिया गया, जिससे सुनील की मौत घटनास्थल पर ही हो गई।

मृतक फाइन आर्टस से था बीटेक, पत्नी की सूचना पर पहुंची थी पुलिस
परिजनों की मानें तो मृतक सुनील दिल्ली स्थित फाइन आर्टस कॉलेज से बीटेक की डिग्री हासिल कर वहीं काम करता था। कई राजनीतिक व फिल्मी दुनिया के कलाकार उसके दीवाने थे। उसकी बनाई गई पेंटिंग फिल्मी दुनिया नामचीन हस्तियों व राजनीतिज्ञों के दीवारों के शोभा बढ़ा रहा है। लगभग एक वर्ष बाद एक हफ्ते पूर्व पत्नी व दो वर्षीय बेटी के साथ दिल्ली से पटना आया था व दो दिन पहले ही पत्नी व बेटी को पटना छोड़कर मानपुर स्थित पैतृक मकान पर पहुंचा था। गुरुवार शाम हरी सब्जियां खरीद कर लौटा था। सूत्रों की मानें तो किसी तरह घटना की खबर पटना में रह रही सुनील की पत्नी को लगी, जिसके बाद स्थानीय पुलिस को मामले की जानकारी दी। उक्त सूचना पर पुलिस सुनील के घर पहुची।

कार से शव को ठिकाने लगाने ले गए थे,12 घंटे बाद हुआ बरामद
दूसरी ओर, घटना के बाद हमलावर शव को दिल्ली नम्बर की कार से लेकर फरार हो गए। शव को एफसीआई पहाड़ी के समीप फेंक दिया और भाग निकले। सूत्रों की मानें, तो गिरफ्तार प्रिंस व उसका भाई गोलू का कई आपराधिक गतिविधियों में संलिप्तता हैं। घटना के समय से लेकर शुक्रवार की दोपहर तक पुलिस उसकी डेड बॉडी को ढूंढती रही, पर कहीं कोई सुराग नहीं मिला।

दोपहर को अचानक से चंदौती पुलिस को सूचना मिली, की एक युवक का शव पहाड़ी के नीचे पड़ा है। इस सूचना पर चंदौती के अलावे बुनियादंगज थाना की पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला, कि डेड बॉडी किसी और की नहीं बल्कि सुनील की ही है। हालांकि पुलिस ने हत्या करनेवालों में से तीन को रात को ही हिरासत में ले लिया था।

हत्या के मामले में तीन को किया गया है गिरफ्तार, कार्रवाई चल रही है : एसएचओ
एसएचओ उपेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। फिलहाल पूर्व में हिरासत में लिए गए सभी आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया कि प्रिंस हाल ही में जेल से छूट कर आया है। वह चाकू मारने के आरोप में जेल में बंद चल रहा था। वहीं मृतक सुनील की पत्नी भी पटना से गया के लिए चल चुकी है। उसे एक छोटी सी बच्ची भी है। खास बात यह है कि पुलिस ने जिस भाई को गिरफ्तार किया है। वह दोनों पैर एक एक्सीडेंट में गंवा चुका है।

खबरें और भी हैं...