पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Farmers In Gaya In Shock As Bihar Government Ended Subsidy On Agriculture Machines During Corona

कोरोना की आड़ में किसानों से बेईमानी:बिहार सरकार द्वारा कृषि यंत्रों पर सब्सिडी खत्म करने से गया के किसान निराश, अब केंद्र सरकार से ही उम्मीद

गया21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिहार सरकार द्वारा इस योजना को खत्म किए जाने से गया के किसान निराश हैं। लेफ्ट से बब्बन, जगदीश और चन्द्रदीप। - Dainik Bhaskar
बिहार सरकार द्वारा इस योजना को खत्म किए जाने से गया के किसान निराश हैं। लेफ्ट से बब्बन, जगदीश और चन्द्रदीप।

कोरोना की आड़ में बिहार सरकार ने एक झटके में किसानों को आसमान दिखा दिया है। सब्सिडी पर दिए जाने वाले कृषि यंत्रों की योजना को सरकार ने खत्म कर दिया है। अब किसानों को किसी भी यंत्र की खरीदारी पर न तो कोई छूट मिलेगी और न ही सब्सिडी। सरकार के इस निर्णय से किसान हताश हैं।

बिहार सरकार की ओर से अत्याधुनिक तरीके से खेती करने के लिए कृ़षि यंत्र मुहैया कराया जा रहा था। इसके लिए एक विशेष योजना चलायी जा रही थी। इस योजना पर प्रत्येक वर्ष बिहार सरकार 250 करोड़ रुपये खर्च करती थी, लेकिन अब इसे सरकार ने समाप्त कर दिया। कृषि यंत्रों की खरीदारी के लिए कृषि विभाग की ओर से जिला मुख्यालय से लेकर प्रखंड मुख्यालय तक मेला लगाया जाता था। मेले में किसानों को हाथों-हाथ कृषि यंत्र दिए जाते थे। लेकिन अब न तो मेला लगेगा और न ही सब्सिडी मिलेगी।

कुछ ऐसे खत्म की गई सब्सिडी

सूत्रों का कहना है कि 2019 तक यह योजना निर्बाध गति से प्रदेश के प्रत्येक जिले में चलती रही लेकिन 2020 में इसपर कोरोना की नजर लग गई। 2019 तक इस योजना के तहत 70 उपकरणों पर सब्सिडी दी जाती थी। जैसे ही कोरोना ने 2020 में पैर पसारा, वैसे ही सरकार ने सब्सिडी पर दिए जाने वाले उपकरणों की संख्या घटा कर 17 कर दी। जब 2021 में कोरोना की दूसरी लहर ने प्रदेश में पांव फैलाया तो सरकार ने इस योजना को ही बंद कर दिया। अब किसी भी उपकरण पर कृषि विभाग की ओर से कोई सब्सिडी नहीं दी जा रही है।

अब केंद्र सरकार से उम्मीद

इधर जिला कृषि अधिकारी सुदामा महतो ने बताया कि सरकार ने इस योजना को फिलहाल बंद कर दिया है। केंद्र सरकार की ओर से चल रही योजना के तहत छोटे उपकरणों पर सब्सिडी दिए जाने के बाबत फिलहाल कोई आदेश नहीं आया है। लेकिन संभावना है कि केंद्र सरकार की ओर से कुछेक छोटे उपकरणों पर दी जानेवाली सब्सिडी किसानों को मिल सकती है।

किसानों के साथ बेईमानी कर रही सरकार

किसान बबन सिंह कहना है कि पारंपरिक तरीके से खेती की बात अब पुरानी हो गई है। हर किसान अब उपकरण खरीदना चाहता है, पर प्रदेश सरकार ने इस योजना को बंद कर किसानों के साथ बेईमानी कर रही है। चंद्रदीप महतो का कहना है कि हम इस वर्ष हार्वेस्टर के मूड में थे। लेकिन अब यह संभव नहीं है क्योंकि सरकार ने कृषि यंत्रों पर से सब्सिडी खत्म कर दी। सरकार के इस निर्णय से किसानों को बड़ा आघात पहुंचा है।

चंद्रदीप प्रजापति का कहना है कि सरकार किसानों को धरती पुत्र कहती है। किसान ही देश का पेट भरता है। बावजूद इसके किसानों को दी जाने वाली सब्सिडी को सरकार खत्म कर रही है जो कि ठीक नहीं है।

खबरें और भी हैं...