गया नगर निगम बैकफुट पर आया:तीर्थ यात्रियों से वसूली बंद, कंटेनमेंट जोन में होगा सैनेटाइजेशन

गया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गया नगर निगम बैकफुट पर आया। - Dainik Bhaskar
गया नगर निगम बैकफुट पर आया।

गया नगर निगम ने आपात बैठक बुला कर शहर के पिंड वेदियों का दर्शन के लिए आने वाले तीर्थ यात्रियों से रुपए लिए जाने के मामले में पंडा समाज के विरोध को देखते हुए बैकफुट पर आ गया है। उसने अपना निर्णय अग्रिम आदेश तक वापस ले लिया है। साथ ही नगर निगम ने गुरुवार की दोपहर से शहर के विभिन्न कंटेनमेंट एरिया में वैरिकेडिंग का जिम्मा अपने सिर लेते हुए वैरिकेडिंग का काम शुरू कर दिया है। मगध कॉलोनी, एपी कॉलोनी हनुमान नगर आदि इलाकों में चारो ओर से वैरिकेडिंग शुरू कर दी गई है। इसके अलावा दर्जन भर इलाकों का वैरिकेडिंग की जानी है। इसेक अलावा निगम ने दो दिन बाद से शहर में सेंटाइजेशन अभियान चलाने का निर्णय लिया है।

बीते दिनों नगर निगम ने सिताकुंड और अक्षयवट पिंड वेदी का दर्शन करने को आने वाले पिंडदानी और तीर्थ यात्रियों से प्रति व्यक्ति पांच रुपये शुल्क लेना शुरू कर दिया था। निगम का दावा था कि इसके लिए उसने टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर टैक्स वसूली का ठेका दिया है। टैक्स वसूली का काम ठेकेदार की ओर से शुरू किए जाने के साथ ही पंडा समाज ने मोर्चा खोल दिया था। पंडा समाज नगर निगम के इस निर्णय का विभिन्न मंचों से जबर्दस्त विरोध जता रहा था।

विष्णुपद से जुड़े पंडा समाज और विष्णुपद प्रबंध कारिणी समिति के अध्यक्ष शंभू लाल बिठ्‌ठल का कहना था कि जिले में 50 से अधिक पिंड वेदियां हैं। यदि हर वेदी की साफ-सफाई और रख रखाव के नाम पर प्रति तीर्थ यात्री वसूली की गई तो गया जी का नाम देश में धूमिल होगा। ऐसा देश के किसी भी तीर्थ स्थल पर नहीं होता है। लेकिन गया नगर निगम ऐसा काम कर रहा है जिससे गया की छवि खराब हो रही है।यही नहीं निगम के इस फैसले की पूरे जिले में कड़ी आलोचना भी शुरू हो गई। स्थिति बिगड़ते देख गुरुवर को नगर निगम ने आपात बैठक बुलाई और अपने निर्णय को वापस ले लिया।

इसके बाद नगर निगम ने प्रतिनिधियों व अधिकारियों ने बैठक में तय किया कि निगम आने वाले दिनों के भीतर अपने संसाधन को दुरुस्त करेगा और फिर तीसरे दिन उन संसाधनों की बदौलत शहर के कंटेनमेंट जोन में सैनेटाइजेशन अभियान चलाएगा।

बैठक में यह भी तय किया गया कि कंटनेमेंट जोन की बैरिकेडिंग नगर निगम अपने खर्च से करेगा। साथ ही बैठक में आदेश दिया गया कि मगध कॉलोनी, एपी कॉलोनी और हुनमान नगर में तत्काल प्रभाव से बैरिकेडिंग की जाए।

खबरें और भी हैं...