खेलकूद:राज्यस्तरीय दिव्यांग वॉलीबॉल टूर्नामेंट में गया टीम ने जहानाबाद को 2-1 से हराया

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजेता व उपविजेता टीम शील्ड के साथ। - Dainik Bhaskar
विजेता व उपविजेता टीम शील्ड के साथ।
  • पांच जिले से पहुंचे खिलाड़ी, विजेता टीम को 21 सौ व उपविजेता को 11 सौ का मिला नकद पुरस्कार
  • पारा ओलिंपिक वॉलीबॉल एसोसिएशन ऑफ बिहार के बैनर तले हुआ टूर्नामेंट

शहर के गांधी मैदान स्थित इंडोर स्टेडियम में रविवार को खेले गए 10 वीं राज्य स्तरीय दिव्यांग वॉलीबॉल टूर्नामेंट के फाइनल में गया की टीम विजयी हुई। अपने प्रतिद्वंदी जहानाबाद को 2-1 से हराकर गया ने कप पर कब्जा किया। बता दें कि पारा आेलंपिक वॉलीबॉल एसोसिएशन ऑफ बिहार के बैनर तले दो दिवसीय इस राज्य स्तरीय टूर्नामेंट का शुभारंभ शनिवार को हुआ था। बिहार के पांच जिले (गया, जहानाबाद, नालंदा, सारण व मुंगेर) की टीम गया पहुंची थी। पहला दिन लीग मैच के बाद रविवार को फाइनल मुकाबला खेला गया। मैच की शुरूआत मुख्य अतिथि संपूर्ण वैश्य समाज बिहार के जिलाध्यक्ष संजीत कुमार अधिवक्ता द्वारा टॉस उछाल कर किया गया। इस बीच मुख्य अतिथि ने सभी खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर हौसला अफजाई किया। एसोसिएशन के संरक्षक सह मेयर/डिप्टी मेयर प्रत्याशी रवि कुमार उर्फ गुडडू बरनवाल ने बताया कि गया व जहानाबाद के बीच तीन सेट मैच खेले गए। इसमें गया की टीम 2-1 से जीत दर्ज की। संतोष कुमार उर्फ छोटे ने विजेता टीम को ट्राफी दी।

गोला फेंक में पूनम ने मारी बाजी, दूसरे स्थान पर मंजू
गया|शहर के आजाद पार्क में श्री महावीर सोशल डेवलपमेंट फाउंडेशन के बैनर तले रविवार को एक दिवसीय महिला शॉटपुट गोला फेंक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। शुभारंभ प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. शांभवी कुमारी, शिक्षाविद् गीता दीदी, भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष वंदना कुमारी व फाउंडेशन के डायरेक्टर आशुतोष कुमार बड़े और संतोष कुमार छोटे ने संयुक्त रूप से किया। इस बीच इन्होंने बताया कि प्रतियोगिता सुबह 06:00 बजे से शुरू हुई। इसमें करीब 70 विवाहित महिलाओं ने भाग लिया। गोला फेंक प्रतियोगिता में इन महिलाओं का जबर्दस्त उत्साह दिखा। इसमें प्रथम स्थान पर पुनम कुमारी रही। इन्होंने साढ़े पन्द्रह फीट तक गोला फेंका। दूसरे स्थान पर मंजू गुप्ता और तीसरे स्थान पर सरिता देवी रही। सभी विजेता प्रतिभागियों को फाउंडेशन द्वारा शील्ड देकर सम्मानित किया गया। विवाहित महिलाओं के इस खेल को देखने के लिए काफी संख्या में दर्शक शामिल हुए।

शॉटपुट गोला फेंक प्रतियोगिता में शील्ड के साथ महिलाएं।
शॉटपुट गोला फेंक प्रतियोगिता में शील्ड के साथ महिलाएं।

विजेता टीम को मिला 21 सौ रुपए का पुरस्कार
टूर्नामेंट में विजेता टीम को 21 सौ रुपए और उपविजेता को 11 सौ रुपए का नकद पुरस्कार मिला। इस दौरान गया टीम के कप्तान हसनून बन्ना खान अपने साथी मंटु कुमार, धनंजय कुमार, तजनूल खान, विनोद कुमार, जानकी रमण पाण्डेय और जहानाबाद के कप्तान अजीत अपने साथी आनंद, अजीत, समनोज कुमार, योगेश पासवान, विकास कुमार के साथ रहे। रेफरी की भूमिका में मो. अशरफी अली व मो. शमीम खान थे।

खेल के लिए होनी चाहिए मन में शक्ति
बिहार संरक्षक श्री बरनवाल ने कहा कि इस खेल से एक चीज सबने सीखी। तन स्वस्थ्य हो या ना हो, मन में शक्ति होनी चाहिए। दिव्यांग खिलाड़ियों का हौसला देख मन प्रफुल्लित हो उठा। इस मौके पर संपूर्ण वैश्य समाज के जिला महासचिव मनोज कुटरियार, महेन्द्र वर्णवाल, संजय गुप्ता, शेखर लाेहानी, सचिव राजेश कुमार आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...