राष्ट्रीय बालिका दिवस:अजनबी के झांसों से हमेशा सतर्क रहें छात्राएं

गया3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गौतम बुद्ध महिला कॉलेज के सभागार में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर मगध प्रान्त की गायत्री महिला शाखा भारत विकास परिषद की ओर से साइबर क्राइम के कारण व सुरक्षा” विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

भारत विकास परिषद की अध्यक्ष व कार्यक्रम संयोजक-सह-कॉलेज की पूर्व प्रधानाचार्य प्रो. शांति सिंह ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि छात्राओं से कहा कि किसी भी अजनबी द्वारा दिये जा रहे मानसिक प्रलोभनों व भावात्मक झांसों से हमेशा सतर्क रहें।

प्रधानाचार्य प्रो. जावेद अशरफ़ ने छात्राओं को साइबर क्राइम से सुरक्षित रहने के लिए मनोवैज्ञानिक दृढ़ता से दृढ़ रहने की बात कही। महिला थानाध्यक्ष रविरंजना और अधिवक्ता सुमन सिंह ने छात्राओं को सोशल मीडिया का उपयोग सावधानी और सतर्कता से करने की बात कही। व्यक्तिगत जानकारी को विचार-विमर्श करके ही साझा करें।

अंग्रेजी विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. रश्मि प्रियदर्शनी ने अपनी स्वरचित कविता बेखौफ़ बढ़ती हैं बेटियां से उद्धृत पथ पर शूल बिछे होते हैं, बहेलिए गड़ाए पैनी नजर। गड्ढों से बचना नामुमकिन है, संभल कर न चल़ें अगर।। फिर भी निडर, निर्भय, बेखौफ बढ़ती हैं बेटियां। कार्यक्रम का संचालन व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. सुमन जैन ने किया।

कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ। इस संगोष्ठी में प्रो. अफ्शां सुरैया, रेणु सिंह, अनामिका रंजन, मीरा सिंह, प्रभा त्रिवेदी, शकुंतला सिंह, डॉ. नगमा शादाब, प्रीति शेखर, सुधा कुमारी के साथ कॉलेज के शिक्षकेतर कर्मियों एवं अनेक छात्राओं की उपस्थिति रही।

खबरें और भी हैं...