पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Grandson Was Being Beaten After Being Tied To A Pole, When Grandma Reached To Save Her, She Was Beaten To Death

वारदात:पोल से बांधकर पोते की हो रही थी पिटाई, बचाने को दादी पहुंची तो उसे ही पीट-पीटकर मार डाला

गयाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाठी व रॉड से पीट-पीटकर महिला की कर दी हत्या, सूचना के बावजूद थानेदार ने फोर्स के बजाए भेजा चौकीदार

अतरी थाना इलाके के सुखेबीघा में अपने पोते को बचाने गयी 60 वर्षीय महिला गौरी देवी की हत्या नृशंस तरीके से लाठी-डंडे व रॉड से पीट-पीट कर दी गई। गांव के कुछ लोगो मे विवाद और मारपीट हुई थी।उसी विवाद की रंजिश में लोगों ने वजीरगंज से लौटने के दौरान करसी मोड़ के पास पोते को जबर्दस्ती पकड़ लिया। वे दस की संख्या में थे। इसके बाद सुखेबीघा ले जाकर बिजली के पोल में बांधकर मारपीट कर रहे थे। इस बात की जानकारी जब दादी को लगी तो वो पोते को बचाने के लिए दौड़ी-दौड़ी खडहुआ से सुखेबीघा चली आई।

उसने मुझे छुड़ाने का प्रयास किया तो उक्त लोग मुझे छोड़कर मेरी दादी पर ही हमलावर हो गए। रॉड और लाठी-डंडे से बेरहमी से इस प्रकार पिटाई की जिससे उसकी मौत हो गई। विलाप करते परिजन पुलिस की निष्क्रियता को भी कोस रहे थे। इनका कहना था कि जिस समय उसके पोते को पीटा जा रहा था, उसी समय मामले की जानकारी पुलिस को दी गई थी। पर पुलिस नहीं आई।

11 लोगों को बनाया गया है नामजद| महिला की हत्या कर दी गई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। इस कांड को लेकर मृतका के पोते ने ऋतु यादव, महेश यादव, संजू यादव, सुनीता देवी सहित 11 लोगो को नामजद अभियुक्त बनाया है। वहीं आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए गए हैं। प्रशांत कुमार, थानाध्यक्ष अतरी

पुलिस ने खुद पहुंचने के बजाए चौकीदार भेजा
इस गंभीर मामले की जानकारी मिलने के बाद भी अतरी थानाध्यक्ष ने इसे हल्के में लिया। मौके पर खुद या किसी पुलिस पदाधिकारी को भेजने के बजाए चौकीदार रामजी पासवान को भेजकर स्थिति जानने की कोशिश में ही जुटी रही। चौकीदार रामजी पासवान जब तक घटनास्थल पर पहुंचता, उसके पूर्व ही उक्त तत्वों ने महिला की हत्या कर दी थी। इस रवैए को लेकर पुलिस की किरकिरी हो रही है।

गैर जिम्मेदारी अधिकारी पर हो कार्रवाई
राष्ट्रीय जन जन पार्टी के प्रधान महासचिव सह अतरी विधानसभा के संभावित प्रत्याशी शैलेन्द्र कुमार ने घटना पर शोक जताया है। उन्होंने बताया कि बिहार में दुबारा जंगलराज आ चुका है। पुलिस अधिकारी मनमाने तरीके से कार्य करते हैं। इस तरह की घटना की जानकारी मिलने के बाद भी त्वरित कार्रवाई नहीं किए जाने से यह घटना हुई है।

सुखेबीघा गांव में छीन लिया मैगजीन, कई पुलिस कर्मियों को घायल किया था
पूर्व में इस गांव में अतरी थाना की पुलिस पर हमला कर दिया गया था, जिसमें चोटिल हुई पुलिस को भागने को विवश होना पड़ा था। वहीं इसी गांव में अतरी पुलिस के एक जवान के हथियार का वट तोड़ दिया गया था और मैगजीन भी छीन लिया गया था। मैगजीन अब तक पुलिस को वापस नहीं मिल पाया है। यही कुछ दुस्साहस भरे आपराधिक कारनामे के कारण सुखेबीघा गांव में आने से पुलिस बचती रही और एक महिला की इस तरह से हत्या की वारदात को अंजाम दे दिया गया।

खबरें और भी हैं...