पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Here The Condition Of The City Is Worse Than The Village, It Is Difficult To Walk In Light Rain.

स्मार्ट सिटी छोड़िए:यहां तो शहर की हालत गांव से भी बदतर, हल्की बारिश में चलना भी मुश्किल

गया22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एयर कंडीशन कमरों में बैठकें करने से शहर के हालत सुधर जाते तो वार्ड संख्या-29 के अंतर्गत मगध मेडिकल काॅलेज के पीछे वाला मोहल्ला वीर कुंवर सिंह काॅलोनी (कलेर) के लोगों को चंदा करके मुख्य मार्ग मरम्मत नहीं करनी पड़ती। चंदा करके सड़क मरम्मत कराने के बाद भी लोगों को कीचड़ भरी रास्ते से गुजरना पड़ता है। जर्जर सड़क होने के कारण मोहल्ले के लोग अक्सर फिसलते रहते हैं। इस सड़क पर बाइक सवारों के लिए फिसलना और चोट खाना तो अब आम बात हो गई है। ये हालत मुख्य मार्ग की ही नहीं मोहल्लों के सभी गलियों की है।

जबकि शहर के सभी मुख्य मार्ग व गलियों को पक्कीकरण और साफ सफाई को लेकर महापौर और नगर आयुक्त के लंबे चौड़े दावे हैं। बरसात के पहले भी कई कई बार बैठकें बुलाई गई हैं। ढेरों आदेश-निर्देश जारी किए गए हैं। मगर हकीकत है कि बदल ही नहीं रही है। अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को एक बार आकर जरूर इस सड़क को देखनी चाहिए।

मोहल्ले की गलियां भी खस्ताहाल
एटी गेट से जैसे ही आप मगध मेडिकल काॅलेज की ओर करीब 400 मीटर आगे बढ़ते हैं तो डाकबाबा के नाम से प्रसिद्ध जगह से आप लेफ्ट साइड कच्ची सड़क में घुस जाइए। यह रास्ता मेडिकल काॅलेज के पीछे से चपरदह तक चला जाता है। इस मुख्य मार्ग से मोहल्ले के लिए कई गलियां निकली है। सभी की हालत खस्ताहाल है। अभी तीन दिनों से बारिश नहीं हुई है तो रास्ता सुख गया है, कीचड़ नहीं है। लेकिन उबड़ खाबड़ तो हमेशा बना रहता है। मोहल्ले के लोग कहते हैं कि जब पूरे देश के किसान बारिश होने के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं तो यहां के लोग प्रार्थना करते हैं कि बारिश न हो। ताकि मुख्य मार्ग और गलियां सुखी रहे।

पिछले साल दो कनीय अभियंताओं ने किया था सर्वे
पिछले साल बरसात के दिनों में ही गया नगर निगम के दो कनीय अभियंता आए थे और घूम घूमकर मुख्य मार्ग और मोहल्ले के गलियों का सर्वे किया था। उस समय उक्त दोनों जूनियर इंजीनियरों ने मोहल्लेवासियों से वादा किया था कि विश्वास रखिए, सड़क बनेगी। लेकिन देखते देखते एक साल बीत गए। पुनः बरसात आ गई लेकिन सड़क का निर्माण शुरू नहीं हुआ। मोहल्ले के लोगों ने तत्कालीन सांसद हरी मांझी से भी गुहार लगाया था लेकिन कुछ नहीं हुआ। अब फिर एक बार वर्तमान सांसद विजय कुमार मांझी से गुहार लगा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...