• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Hindi Moving Forward Breaking The Bonds Of Modernity And Postmodernity; National Webinar At Anugrah Narayan Memorial College, Navinagar, Magadha University

राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन:आधुनिकता और उत्तर आधुनिकता के बंधन को तोड़ते हुए आगे बढ़ रही हिंदी; मगध विवि के अनुग्रह नारायण मेमोरियल कॉलेज नवीनगर में राष्ट्रीय वेबिनार

गया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मगध विवि के अनुग्रह नारायण मेमोरियल महाविद्यालय नवीनगर औरंगाबाद और भारतीय भाषा मंच दक्षिण बिहार प्रांत के संयुक्त तत्वावधान में हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। हिंदी भाषा का वैश्विक परिदृश्य और उसके समक्ष चुनौतियों और संभावनाओं पर व्यापक विचार विमर्श इस मंच के माध्यम से हुआ।

हिंदी पखवाड़ा कार्यक्रम के अंतिम दिन इस विशिष्ट कार्यक्रम की अध्यक्षता मगध विवि के कुलपति प्रो राजेंद्र प्रसाद ने की। उन्होंने कहा कि हिंदी आधुनिकता और उत्तर आधुनिकता के बंधन तोड़ते हुए आगे बढ़ रही है। हिंदी की वैश्विक यात्रा में जनमानस के लोकप्रिय साहित्य रामायण महाभारत और गीता का भी महत्वपूर्ण योगदान है उन्होंने 1986 में संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में अपने संस्मरण के माध्यम से हिंदी के वैश्विक परिदृश्य से अवगत कराया।

उन्होंने भारतीय संस्कृति और जीवन मूल्यों के उदात्त चरित्र को संरक्षित करने हेतु भारतीय भाषाओं को लोकजीवन के संस्कार से जोड़ने की बात कही साथ ही कहा की भाषा का संस्कार यह है कि हमें भी दक्षिण भारतीय भाषाओं को सीखना चाहिए। विशिष्ट वक्ता के रूप में मगध विवि के हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो विनोद सिंह ने कहा कि हिंदी वैश्विक फलक में बढ़ रही है, लेकिन वर्चस्व अभी भी अंग्रेजी का ही कायम है।

भारतीय भाषाओं को सहेजने पर दिया बल
मनुष्य की अस्मिता की रक्षा हेतु भाषा एक सशक्त माध्यम है। कार्यक्रम में शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के क्षेत्रीय संयोजक प्रो विजय कांत दास ने वैचारिकी में भारतीय भाषाओं को सहेजने पर बल दिया। उन्होंने कहा हमारे समाज और देश के केंद्र में हिंदी है। साथ ही हमें क्षेत्रीय भाषाओं की विरासत मिली है।

खबरें और भी हैं...