रंगदारी नहीं दी तो पहले JCB जलाई, अब मजदूर किडनैप!:दोनों मजदूरों को दो घंटे बाद पर्ची के साथ छोड़ा, लिखा- केके टाइगर ने दिया घटना को अंजाम

गया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के बांकेबाजार प्रखंड में पुल निर्माण में जुटी कंपनी द्वारा रंगदारी नहीं दिए जाने के मामले में अपराधियों ने तीन दिन पूर्व जेसीबी जलाए जाने के बाद सोमवार की रात दो मजदूरों को किडनैप कर लिया। हालांकि दो घंटे बाद रात में ही मजदूरों को अपराधियों ने छोड़ दिया। साथ ही किडनैपरों ने घटनास्थल पर एक लाइन की पर्ची भी छोड़ी है जिस पर एक लाइन का संदेश लिखा है। संदेश कंप्यूटर से टाइप किया हुआ है। पर्ची पर स्पष्ट लिखा है कि रंगदारी नहीं दिए जाने के कारण घटना को केके टाइगर की ओर से अंजाम दिया जा रहा है। कौन यह केके टाइगर अब तक रहस्य बना है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यह कोई नया टाइप का अपराधी क्षेत्र में उभर रहा है।

बांकेबाजार प्रखंड के रोशनगंज थाना क्षेत्र के सगडीहा में पुल निर्माण करा रही कंपनी की अपराधियों ने रविवार की रात जेसीबी को आग के हवाला कर दिया था। घटना को अंजाम देने वाले सभी अपराधी बाइक से आए थे और जेसीबी के ऊपर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी थी। इसके बाद सभी अपराधी मौके से फरार हो गए थे। इस घटना के एक दिन बार सोमवार की रात अपराधी एक बार फिर पुल निर्माण स्थल पर पहुंचे। मौके पर ठेकेदार के सामान की सुरक्षा कर रहे मजदूर सो रहे थे। उन मजदूरों को अपराधियों ने जगाया तो मौके पर भगदड़ मच गई।

सभी मजदूर इधर-उधर भागने लगे, लेकिन दो मजदूर उनके हत्थे चढ़ गए और उन्हें वह किडनैप कर अपने साथ लेकर चले गए। इस बात की सूचना कुछ मजदूरों ने निर्माण कंपनी के ठेकेदार को दी। ठेकेदार ने अपने संपर्क को खंगाला।

सूत्रों का कहना है कि अपराधियों की कंपनी के ठेकेदार से बातचीत हुई और घटना के दो ही घंटे बाद अपराधियों ने मजदूरों को छोड़ दिया। इस बात की पुष्टि खुद ठेकेदार सत्येंद्र यादव ने की है। इधर थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि घटना की सूचना मिली है पर किसी तरह का कोई आवेदन अब तक नहीं आया है। बावजूद इसके मामले की जांच शुरू कर दी गई है। पर्चा छोड़ने गैंग का पता लगाया जा रहा है।