पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बम ब्लास्ट के सात साल पूरे:महाबोधि मंदिर बना अभेद्य किला, दुकानदार आज भी बेरोजगार

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

07 जुलाई 2013, महाबोधि मंदिर परिसर, सुबह पहला बम विस्फोट बोधिवृक्ष के निकट 5ः30 मिनट पर हुआ था। दूसरा बम दो मिनट बाद अनिमेष लोचन के निकट हुआ। तीसरा बम दीपघर के पास व चौथा बम उत्तर की ओर रत्नघर के निकट हुआ। तेरगर मोनास्ट्री के पास सुजाता बाईपास पर बस में एक बम विस्फोट किया। तेरगर मोनास्ट्री में तीन बम ब्लास्ट किया।  80 फुट बुद्ध मूर्ति पर एक जिंदा बम बरामद हुआ था। एक बम बैजू बिगहा के निकट ट्रांसफॉर्मर के नीचे बरामद हुआ था। इस बोधगया सीरियल बम ब्लास्ट के सात साल पूरे हो गए।

इन सात वर्षों में नहीं बदली विस्थापितों की स्थिति

इन सात सालों में विस्थापित दुकानदारों की स्थिति में बदलाव नहीं हुआ। अधिकांश आज भी बेरोजगार हैं। आज भुखमरी के कगार पर पहुंच चुके उन दुकानदार परिवारों को पूछने वाला कोई नहीं है, जिन्होंने बिना कोई अपराध के जन्मभर का दंड भुगत रहे हैं। विस्फोटकों के कूरियर की संभावना का जिल्लत तो दिया ही, इसके अलावे हैंड ग्रेनेड फेंकने में भी मददगार की संभावना जतायी गई। धारा 144 लगाकर मंदिर के बाहरी परिसर में उनकी दुकानों को तोड़कर हटा दिया गया। उन्हें मुआवजा देने का आश्वासन मिला, दुकान का आश्वासन भी मिला था, पर कुछ नहीं मिला।

आज उन 58 दुकानों के अलावे सैकड़ों फुटपाथी दुकानदारों को देखने व हाल लेने वाला कोई नहीं है। विस्थापित हासिमुल हक का कहना है, इन्हें मुआवजा नहीं, रोजगार के अवसर चाहिए था। उन्हें हमदर्दी नहीं, खुद अपने पैरों पर खड़े होने का अवसर चाहिए था। वे अपने बूते फिर से अपना भविष्य संवारने की हिम्मत रखते हैं। इनमें संघर्ष की जिजिविषा है, बस एक मौका चाहिए था।

2018 में भी विस्फोट की  हुई थी कोशिश

19 जनवरी 2018 तक दोबारा बम पहुंचा, पर सजगता से विस्फोट से बच गया। महाबोधि मंदिर व बोधिवृक्ष की सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था है। परिसर में इलेक्ट्रॉनिक सामानों का प्रवेश वर्जित है। मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक गजट प्रतिबंधित है। लगेज स्कैनर, आठ डोर मेटल डिटेक्टर व 10 हैंड मेटल डिटेक्टर, दो 360 डिग्री घूमनेवाले एचडी सीसीटीवी कैमरा, 60 सीसीटीवी कैमरा के अलावा बीएमपी के तीन पुरूष कंपनी व एक महिला कंपनी तैनात है। इसके अलावा एक सब इंस्पेक्टर व एक डीएसपी है। सीसीटीवी कैमरा का नियंत्रण कक्ष मंदिर परिसर में बनाया गया है, जहां से इसकी मॉनेटरिंग होती है। जवानों के लिए मंदिर परिसर के दक्षिणी हिस्से में बैरक बनाए गए हैं। निगरानी को चारों कोने पर वाच टावर भी है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें