नक्सलियों का गढ़ एयर फोर्स की हेलीकॉप्टर से गूंज उठा:गया के दो प्रखंडों में आधुनिक हथियारों से लैस BSF, CRPF जवान हेलीकॉप्टर से रख रहे निगरानी

गया3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गया के दो प्रखंड इमामगंज और डुमरिया जो अति संवेदनशील और नक्सल प्रभावित है। वहां पर आज सुबह से ही पंचायत चुनाव के तहत आठवें चरण की वोटिंग जारी है। यह इलाका नक्सलियों का गढ़ होने की वजह नक्सली घटना की भी संभावना है। बीती रात ही डुमरिया से सटे झारखंड और बिहार की सरहद पर स्थित एक गांव में नक्सलियों ने दहशत फैलाने की कोशिश की थी।

मिली जानकारी के अनुसार, डुमरिया के एक गांव में एक टेंपू को नक्सलियों ने जलाकर राख कर दिया। क्योंकि वह नक्सलियों की तीन दिनों की बंदी के खिलाफ गया था। लेकिन सुबह होते ही CRPF एवं SSB सहित जिला पुलिस के साथ एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर ने मोर्चा संभाल लिया है। जहां CRPF और जिला पुलिस जमीन पर निगरानी और नक्सलियों से लोहा लेने में लगी हुई है। वहीं, आसमान से नक्सलियों पर निगरानी के लिए बीएसएफ के जवान एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर पर बैठे हैं।

पहाड़ी और जंगल के बीच स्थित छकरबन्धा और जमुना गांव से सटे नदी के किनारे एयरफोर्स का हेलीकॉप्टर उतरने से मतदाताओं और आम लोगों में सुरक्षा का अहसास होने लगा। हेलीकॉप्टर से आधुनिक हथियारों से लैस BSF के जवान छलांग लगाकर उतरें। सभी उनकी एक्टिविटी देखते रह गए । CRPF के डिप्टी कमांडेंट अवधेश कुमार ने बताया कि हेलीकॉप्टर के जरिए किसी भी वारदात से जल्द निबटने की तैयारी है। क्योंकि ये इलाका नक्सल और जंगलों और पहाड़ों से घिरा हुआ है, तो सड़क के जरिए फौरी तौर पर करवाई मुमकिन नहीं है। इसलिए हेड क्वार्टर की हिदायत पर सभी सुरक्षा के इंतजाम पहले से किए गए हैं। अभी तक कहीं से किसी तरह के अनहोनी या वारदात की सूचना नहीं मिली है।

खबरें और भी हैं...