पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जागरुकता:नए केस में बाहर से आने वाले ज्यादा, रखी जाएगी नजर

गया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गांवों में टीकाकरण में जागरुकता लाने को स्टिकर का हुआ लोकार्पण, सरकारी वाहनों में चिपकाए जाएंगे

जिला पदाधिकारी गया अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में कोविड 19 के संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण विषयों पर बैठक हुई। इसमें कोविड टीकाकरण, कोविड 19 जांच, टीकाकरण एक्सप्रेस द्वारा शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की समीक्षा, शहरी क्षेत्रों के बाजारों में औचक मास्क जांच अभियान, पॉजिटिव आने वाले व्यक्तियों सहित सभी कांटेक्ट लोगों की जांच कराने का निदेश दिया गया।

आज की बैठक में मुख्य रूप से टीकाकरण तथा कोविड 19 जांच पर फोकस किया गया। बैठक में बताया गया कि गया जिले में आज कुल 4,858 टीका लगाया गया, जिसमें 18 वर्ष से आयु वर्ग के लोगों को 2909 टीका लगाया गया। टीकाकरण एक्सप्रेस के द्वारा 329 लोगों को टीकाकरण किया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि टीकाकरण को अधिक से अधिक प्रचारित करने के उद्देश्य से टीकाकरण से संबंधित संदेश को सरकारी वाहन पर चिपकाने हेतु जिला नजारत उप समाहर्त्ता को निदेश दिया गया।

बाजार क्षेत्र में औचक जांच में तेजी लाने का निर्देश
डीएम ने जिले में पॉजिटिव दर बढ़ने पर चिंता व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि शहरी क्षेत्रों, बाजार क्षेत्र में औचक जांच में तेजी लाई जाए तथा सभी बस स्टैंड यथा सिकड़िया मोड़, शेरघाटी, इमामगंज, मानपुर, बाराचट्टी बॉर्डर इत्यादि सभी जगह के बस स्टैंड पर व्यापक रूप से कोविड-19 सैंपल जांच करवाएं। बाहर से जो भी व्यक्ति ट्रेन, वायुयान अथवा अन्य जिलों की सीमाओं से होकर गया जिला में प्रवेश कर रहे हैं, तो उनपर ध्यान देते हुए उनकी जांच अवश्य कराएं।

योगदान न देने पर डॉक्टर को अल्टीमेटम
बैठक में सिविल सर्जन, गया द्वारा बताया गया कि अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के वरीय चिकित्सक हड्डी विशेषज्ञ अनिल कुमार अब तक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में योगदान नहीं किए हैं। जिला पदाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए 24 घंटे के अंदर योगदान करने का अल्टीमेटम दिया, वरना वेतन भुगतान पर रोक लगाने का सख्त निर्देश दिया।

डीएम ने किया स्टिकर का लोकार्पण
डीएम ने सिविल सर्जन तथा नजारत उप समाहर्ता को निर्देश दिया कि सभी सरकारी वाहनों पर टीकाकरण से संबंधित स्टीकर लगाया जाए तथा लोगों के बीच प्रचारित कराया जाए जिससे आमजन जागरूक होकर अधिक से अधिक टीका ले सके। कहा कि इन प्रयासों से कोरोना के संक्रमण के दर को कम करने में काफी सफलता मिली है।

खबरें और भी हैं...