महाबोधि मंदिर के निकट से नीरा बिक्री:महाबोधि मंदिर के निकट से हटाकर कुछ दूरी पर शिफ्ट किया गया नीरा बिक्री केंद्र

बोधगया14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बौद्धों द्वारा लगातार विरोध के बाद शनिवार को महाबोधि मंदिर के निकट से नीरा बिक्री केंद्र को उत्तर-पश्चिम की ओर कुछ दूरी पर शिफ्ट कर दिया गया है। जीविका बोधगया के बीपीएम अमित कौशिक ने इसकी पुष्टि की। समझा जा रहा है कि 16 मई को बुद्ध जयंती समारोह के मौके पर श्रद्धालुओं की भीड़ के मद्देनजर यह शिफ्टिंग की गई है। हालांकि 07 मई को राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग नई दिल्ली ने गया के जिलाधिकारी को पत्र लिख कर महाबोधि मंदिर के निकट नीरा बेचे जाने पर 15 दिनों के अंदर जानकारी मांगी थी। बौद्ध संगठनों की राष्ट्रीय समन्वय समिति ने भी इसका विरोध किया था।

महाबोधि मंदिर के निकट खुले इस नीरा बिक्री केंद्र का बौद्धों द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है। इससे पहले 20 अप्रैल को बोधगया में विदेशी बौद्ध मठों की संस्था इंटरनेशनल बुद्धिस्ट कौंसिल ने नीरा काउंटर हटाने की मांग कर चुकी है। कौंसिल के महासचिव भिक्षु प्रज्ञा दीप ने इस संबंध में सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखा था और कहा था कि महाबोधि मंदिर के निकट नीरा की बिक्री उचित नहीं है।

इससे विदेशों सहित अन्य श्रद्धालुओं व टूरिस्टों में गलत संदेश जा रहा है। उन्होंने कहा, इस काउंटर को कालचक्र मैदान की ओर शिफ्ट किया जा सकता है। 16 अप्रैल को सीएम नीतीश कुमार ने स्वयं महाबोधि मंदिर के निकट बीटीएमसी के पास इस काउंटर का उद्घाटन किया था। उन्होंने इसे स्वास्थ्यवर्द्धक बताया था। इसके उद्घाटन से पूर्व ही बौद्धों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था।

खबरें और भी हैं...