आक्रोश:लंबित मांगों के समर्थन में शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने किया धरना-प्रदर्शन

गया11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विश्वविद्यालय की दोहरी नीति का विरोध कर रहे आंदोलनकारी, की नारेबाजी

बिहार राज्य विश्वविद्यालय और महाविद्यालय शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर शुक्रवार को शहर के गया कॉलेज, अनुग्रह मेमोरियल कॉलेज और जगजीवन कॉलेज मानपुर में शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने धरना-प्रदर्शन किया। आंदोलनकारी अपने विभिन्न लंबित मांगों का समर्थन और विश्वविद्यालय की दोहरी नीति का विरोध कर रहे थे। गया कॉलेज शिक्षकेतर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष निरंजन प्रसाद, सचिव संतोष कुमार सिंह और संयुक्त सचिव राजीव रंजन ने बताया कि अंतर वेतन, एसीपी, एमएसीपी के अंतर राशि का संपूर्ण बकाए के भुगतान, एक जनवरी से वेतन पुनरीक्षण के फलस्वरूप कर्मचारियों के अंतर वेतन का भुगतान, ससमय कर्मचारियों की प्रोन्नति, अल्पसंख्यक महाविद्यालयों के कर्मचारियों को भी एसीपी-एमएसीपी के सुविधा प्रदान करने आदि मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया गया है।

18 और 19 जनवरी को सामूहिक अवकाश और विश्वविद्यालय में कुलपति का घेराव का कार्यक्रम आदि का कार्यक्रम निर्धारित है। अनुग्रह मेमोरियल कॉलेज, गया के शिक्षकेत्तर कर्मचारी संघ के सचिव अमरेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में कर्मचारियों ने प्रशासकीय भवन के मुख्य द्वार पर धरना प्रदर्शन किया। धरना स्थल पर संघ के अध्यक्ष सुशील कुमार, कोषाध्यक्ष प्रणव, संरक्षक विकास प्रताप सिंह, लेखपाल कुमार किंजलक, शशि भूषण लाल दास सहायक, अशोक कुमार गुप्ता सहायक, नागेंद्र प्रताप पुस्तकाध्यक्ष, आदेशपाल तेतर राम, श्लोक सिंह, नागेश्वर गिरी, हेजाकत हुसैन आदि मौजूद थे।

जगजीवन कॉलेज के कर्मचारियों ने भी किया धरना-प्रदर्शन
जगजीवन महाविद्यालय में प्रक्षेत्रीय मंत्री विनेश कुमार सिंह के नेतृत्व में एक दिवसीय धरना आयोजित हुआ। उन्होंने बताया कि लम्बे समय से कर्मचारियों की मांगों की अनसुनी की जा रही है। कहा कि अगर राज्य सरकार द्वारा लम्बित मांगों को लागू नहीं किया जाता है तो आंदोलन के दूसरे चरण 18 व 19 जनवरी को कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहते हुए विश्वविद्यालय परिसर में धरना देने का काम करेंगे। इस दौरान छात्रों को होने वाले नुकसान की सम्पूर्ण जवाबदेही विश्वविद्यालय प्रशासन व राज्य सरकार की होगी। शिक्षकेत्तर कर्मचारियों के हड़ताल को प्रो इंचार्च डॉ दीनानाथ, प्रॉक्टर डॉ इंद्रदेव प्रसाद यादव, डॉ. अनुरानी, प्रो पूर्णेन्दु का भी समर्थन प्राप्त है। मौके पर अरुण कुमार सिन्हा, नवल किशोर सिंह, शिवनंदन राम, मनोज कुमार राय, पंकज कुमार सहित अन्य शामिल थे।

खबरें और भी हैं...