पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बैठक:जिले में अफीम की खेती करने व कराने वाले लोगों पर एफआईआर का आदेश

गया3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीएम ने अधिकारियों के साथ की बैठक, लोगों को लेमन ग्रास की खेती करने की दी गई सलाह

बाराचट्टी प्रखंड के ई-किसान भवन में बुधवार को अफीम की खेती पर रोक लगाने, क्षेत्र के लोगों को वैकल्पिक फसल को जागरूक करने, अफीम के फसल को नष्ट करने आदि को लेकर डीएम अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में अधिकारियों की बैठक हुई। डीएम ने अफीम की खेती करने वाले या कराने वाले व्यक्तियों पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया।

बैठक में डीएम सिंह ने कहा कि अफीम की खेती करने वाले असामाजिक तत्व हैं, उनपर कड़ी कार्रवाई करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि बाराचट्टी क्षेत्र में अफीम की खेती गया जिला के लिए कलंक का टीका साबित हो रहा है। जिले में उल्लेखनीय विकास कार्य व उपलब्धियां के बावजूद अफीम की खेती के कारण सभी विकास के कार्यों व उपलब्धियों पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहा है।

कहा कि हम सभी को मिलकर इस कलंक के टीके को समाप्त करना अनिवार्य है। उन्होंने बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि आप सब मिलकर अफीम की खेती करने वाले लोगों को प्रेरित करें कि वह उस स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसल लगावें।

बाराचट्‌टी में लेमन ग्रास की खेती को वन विभाग कर रहा तैयारी
डीएम ने कहा कि जिला प्रशासन, स्थानीय प्रशासन, अर्धसैनिक बल और एनसीबी सभी मिलकर अफीम की खेती को समाप्त करने और वैकल्पिक फसल लगाने की तैयारी कर रहे हैं। बाराचट्टी की भूमि पर लेमन ग्रास की खेती करने हेतु वन विभाग तथा कृषि विभाग द्वारा तैयारी की जा रही है। उन्होंने जिले के बाराचट्टी प्रखंड अंतर्गत विभिन्न पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि ऐसे लोग जो अभी अफीम की खेती में संलग्न है, उनके बारे में प्रशासन को सूचित करें। आपका नाम पूरी तरह गोपनीय रखा जाएगा।

भूमिहीन व्यक्तियों को खेती करने को मिलेगी वन विभाग की जमीन
वन प्रमंडल पदाधिकारी इस अभियान के नोडल पदाधिकारी हैं तथा इनके द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो भूमिहीन व्यक्ति हैं उन्हें वन विभाग द्वारा अस्थाई रूप से खेती करने के लिए भूमि दिया जाएगा और नन फॉरेस्ट क्षेत्र में मनरेगा, कृषि विभाग द्वारा तालाब भी बनाए जाएंगे।

खाली पड़े वन भूमि पर तेजी से वृक्षारोपण हेतु योजना बनाए जा रहे हैं। उन्होंने जनप्रतिनिधियों, से अनुरोध किया कि सभी मिलकर यह संकल्प लें कि वे अफीम की खेती करने वालो को इसे छोड़ने व वैकल्पिक फसल लगाने को लोगो को प्रेरित व जागरूक करेंगे।

एक एकड़ में 36 हजार का होगा मुनाफा
जिला कृषि पदाधिकारी ने कहा कि बाराचट्टी क्षेत्र में लेमन ग्रास की खेती के प्रारंभ में एक एकड़ जमीन की खेती में 45000 की पूंजी लगानी होती है, लेकिन प्रथम बार में इतनी पूंजी लगाने पर 5 से 6 साल तक इसी पूंजी में खेती कर सकते हैं। कहा कि एक एकड़ लेमन ग्रास की खेती करने में एक वर्ष में 36000 का मुनाफा होगा।

लेमनग्रास से तेल निकालकर अच्छी कीमत में तेल की बिक्री की जा सकती है साथ ही लेमनग्रास की पत्तियों से विभिन्न प्रकार के इको फ्रेंडली बैग बनाए जा सकते हैं, जिसकी बिक्री मार्केट में अभी अत्यधिक है। बैठक में डीएम व डीएफओ समेत एनसीबी के संयुक्त निदेशक कुमार मनीष, एसएसबी के डिप्टी कमांडेंट, आदि उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser