नाराज लोगों का हंगामा:युवक को दौड़ाकर पीट रहे थे लोग, पोखर में कूदा, मौत

गया22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बोधगया में पोखर से शव को निकालने का प्रयास करते लोग - Dainik Bhaskar
बोधगया में पोखर से शव को निकालने का प्रयास करते लोग

नगर परिषद के वार्ड नंबर 09 के भगवानपुर गांव के पासपोखर में दीपावली की शाम एक व्यक्ति भागने के क्रम में पोखरे में गिर गया। पानी के ऊपर जमी गंदगी में गिरे व्यक्ति की तलाश में लोग घंटों लगे रहे। खबर के बाद बोधगया पुलिस भी मौके पर पहुंची। काफी मशक्कत के बाद करीब 22 घंटे के पश्चात किसी तरह से शव को निकाला गया। मृतक की पहचान चेरकी थाना के इलरा गांव के रहने वाले 29 वर्षीय वंशी मांझी के रूप में की गई है, जो भगवानपुर गांव स्थित अपने ससुराल आया हुआ था। वंशी के छोटे साला शिव कुमार व बड़े साला राजकुमार ने बताया कि दीपावली की देर शाम उसके बहनोई को गांव के कुछ लोग किसी बात को लेकर दौड़ कर पीट रहे थे। जान बचाने के लिए वह पोखर में कूद गया।

जानकारी के बाद शिव कुमार, उसकी मां व पिता अपने दामाद को खोजने निकले तो पोखर के कुछ दूरी पर एक चप्पल मिला। कुछ दूर पर दूसरा चप्पल व गमछी गिरा हुआ मिला। पहले तो सभी ने सोचा की वंशी पोखर से निकलकर कहीं जाकर छुप गया होगा। किन्तु सुबह होने के बाद भी उसका पता नहीं चला। सुबह 8 बजे से ही पोखर की गंदगी हटाने के लिए नगर परिषद को खबर दी। दोपहर करीब 12 बजे के बाद जेसीबी मशीन से सामने फैले कचरे को हटाया गया।

नाराज लोगों ने दोमुहान के पास सड़क को किया जाम

शव निकालने की किसी तरह की पहल न होता देख आक्रोशित लोगों ने गया-डोभी मुख्य सड़क को दोमुहान के पास जाम कर दिया। सड़क जाम की सूचना मिलने के साथ पुलिस पहुंची। इसके बाद पुलिस धनावां के एक गोताखोर की मदद से भगवानपुर पोखर से शव को बाहर निकाला। शव को देख लोग उग्र हो गए और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। एसडीपीओ अजय प्रसाद ने लोगों को शांत किया और कागजी प्रक्रिया पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए मगध मेडिकल भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...