• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Police Of Gaya's Two Police Stations Could Not Catch Even Together, The Victim Father in law Is Upset

साली से शादी की जिद करनेवाला दामाद अभी भी फरार:गया के दो थानों की पुलिस मिलकर भी नहीं पकड़ सकी, पीड़ित ससुर हैं परेशान

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी दामाद की तस्वीर। - Dainik Bhaskar
आरोपी दामाद की तस्वीर।

बीबी के जीवित रहने के बावजूद उसकी छोटी बहन से शादी कराने का ससुराल वालों पर दबाव बना रहे चार बच्चों के बाप को न तो बांकेबाजार पुलिस पकड़ पाई है और न ही मेडिकल थाने की पुलिस। जबकि उस दामाद ने अपनी साली की आपत्ति जनक फोटो फेसबुक पर वायरल कर दी है। यही नहीं, उसने खुद की फोटो भी वायरल कर रखी है, जिसमें वह हाथों में बड़े ही शान से देसी कट्‌टा लिए दिख रहा है। सनकी दामाद के इस खौफनाक हरकत व जिद से भयभीत शिव मिस्त्री घड़ी के पेंडूलम की तरह कभी मेडिकल थाना तो कभी बांकेबाजार थाना दौड़ लगा रहा है।

बांकेबाजार के रहने वाले शिव मिस्त्री का कहना है कि उसका दामाद उसकी बेटी को शनिवार को भी बुरी तरह पीटा है। इस बात की सूचना मेडिकल थाने को दी गई तो थाने से एक सिपाही दामाद के गांव में पहुंचा तब तक वह फरार हो गया। दामाद रवि का कहना है कि पुलिस को हमारी लोकशन उसकी बीबी ही दे रही है। यही आरोप लगा कर वह हमारी बेटी के साथ मारपीट कर रहा है। यही नहीं शनिवार को बांकेबाजार थाने से भी फोन आया था। थानेदार ने शिव मिस्त्री से पूछा कि मीडिया में खबर किसने दी। इस पर शिव मिस्त्री ने स्वीकार किया कि हां हमने दी है। इस पर थानेदार ने कहा कि तुम हमसे कभी मिले हो। तो इस पर शिव मिस्त्री ने कहा कि हम तीन बार आपके थाने में गए पर आपके पुलिस कर्मियों ने हमें वहां से बहाने बनाकर लौटा दिया। इस पर थानेदार ने कहा कि रविवार को बांकेबाजार थाने आओ।

साली से शादी कराओ वरना सबको भून डालूंगा: गया में पत्नी-बच्चों को घर से निकाला; साली की फोटो फेसबुक पर डाली

थानेदार की इस बात पर रविवार की दोपहर बगैर कुछ खाए-पीए ही शिव मिस्त्री बांकेबाजार पहुंचा। तो फिर उसे थानेदार नहीं मिले। थाने में मौजूद डीएसपी से उसकी मुलाकात हो गई। डीएसपी परमेंद्र भारमी ने भी उसे लौटा दिया। कहा कि दो दिनों बाद आना।

इस बाबत थानेदार कुमार सौरभ ने कहा कि पीड़ित व्यक्ति को बुलाया गया है। वह अब तक नहीं आया। लेकिन जब दैनिक भास्कर ने उन्हें यह कहा कि एक बार फिर वह आपके दरवाजे से लौटा दिया गया। इस पर उन्होंने कहा कि रुकिए हम पता करते हैं। इसके बाद उन्होंने पलट कर फोन पर दैनिक भास्कर को बताया कि पीड़ित ने आवेदन दिया है। अब आगे की कार्रवाई होगी।