• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Private Hospitals Refuse Treatment For Corona Patients In Gaya, Problem Increases Due To Full Bed

गया में निजी अस्पतालों के कोरोना बेड फुल:MMC गया के बाद जिले के प्राइवेट अस्पताल संचालकों ने भी हाथ खड़े किए, कोरोना मरीज परेशान

गया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।

मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल गया के पैनल में शामिल निजी अस्पतालों में भी अब कोरोना मरीजों के लिए कोई जगह नहीं है। सभी बड़े निजी अस्पतालों के बेड फुल हो गए हैं। सभी बेडों पर हाई रिस्क पर मरीज चल रहे हैं। सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों में बेड फुल होने की बात सुनकर लोगों की परेशाानी बढ़ गई है।

मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अलावा छह निजी अस्पतालों में कोरोनो के मरीजों का उपचार इन दिनों किया जा रहा है, लेकिन मरीजों की ताबड़तोड़ बढ़ती संख्या की वजह से मगध मेडिकल कॉलेज से लेकर निजी अस्प्ताल तक के बेड फुल हो गए हैं। मगध मेडिकल कॉलेज में 170 बेड हैं, जो सभी के सभी बुधवार की शाम को फुल हो गए थे। अब उनके पास कोई जगह नहीं है। जगह है भी तो उस पर ऑक्सीजन मुहैया कराने के संसाधन उपलब्ध नहीं हैं। ऐसे में मगध मेडिकल कॉलेज ने हाथ खड़े कर दिए हैं।

6 प्राइवेट अस्पताल हैं पैनल में
मेडिकल कॉलेज के हाथ खड़े करते ही निजी अस्पतालों के संचालकों ने भी हाथ खड़े कर दिए। मगध मेडिकल कॉलेज के पैनल में गया डोभी रोड स्थित AIMS हॉस्पिटल, एपी कॉलोनी स्थित अर्श हॉस्पिटल, गंगामहल स्थित वैष्णवी हॉस्पिटल, दुखहरणी मंदिर स्थित श्रीराम हॉस्पिटल, चंदौती थाना क्षेत्र स्थित बुद्धा इमरजेंसी हॉस्पिटल और रेनबो हॉस्पिटल शामिल हैं। इन छह में चार के यहां कोरोना के सभी बेड फुल हैं। उन चार में AIMS, अर्श, वैष्णवी और रेनवो हॉस्पिटल शामिल हैं।

निजी अस्पतालों के बेडों की स्थिति

  • AIMS-28, सभी फुल
  • अर्श- 21, सभी फुल
  • वैष्णवी-10, सभी फुल
  • श्री राम हॉस्पिटल- 8, 6 फुल
  • बुद्धा इमरजेंसी- 20, 18 फुल
  • रेनवो हॉस्पिटल- 6, सभी फुल

इधर, मगध मेडिकल कॉलेज के सुपरींटेंडेंट प्रवीण अग्रवाल का कहना है कि मगध मेडिकल कॉलेज से लेकर निजी अस्पतालों में बेडों की संख्या बढ़ाने की कवायद तेजी से चल रही है। दोपहर बाद कुछ और बेड सभी जगह बढ़ाए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...