अग्रणी भूमिका:रविदास समाज को राजनीति में नहीं मिल रही अग्रणी भूमिका, हों एकजुट

गया9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रविदास समाज को राजनीति में नहीं मिल रही अग्रणी भूमिका, हों एकजुट

फल्गु नदी के निकट रविवार को अखिल भारतीय रविदासिया धर्म संगठन सह जगत गुरु रविदास धार्मिक न्यास बोर्ड के संयुक्त तत्वावधान में सातवां वार्षिक रविदास संत महासम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन का उद्घाटन प्रदेश अध्यक्ष जनार्दन रविदास ने किया। सर्वप्रथम कोडरमा से आए हुए धर्म प्रचारक अनिल कुमार ने बताया गया कि आज रविदासिया धर्म 52 देशों में गुरु रविदास महाराज जी का अमृतवाणी का प्रचार प्रसार किया जा रहा है। वहीं सम्मेलन को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि रविदास समाज राजनीति के क्षेत्र धार्मिक सामाजिक एवं शैक्षणिक के क्षेत्रों में काफी कमजोर होते जा रहे हैं। उपेक्षित के दृष्टिकोण से राजनीतिक क्षेत्रों में देखी जा रही है कि बिहार हो या देश हो सभी जगहों पर इस रविदास जाती को समाज के द्वारा राजनीतिक में अग्रणी भूमिका नहीं मिल रही है।

इसलिए एकजुट होकर पहचान बनाएं और बाबा साहब के बताए हुए मार्ग पर चलने का काम करें। महासम्मेलन को धार्मिक जागरण राष्ट्रीय मिशन गायिका मनीषा प्रभाकर, देवंती कुमारी, सोनी देवी, रिंकू देवी, सोनम देवी, पुतुल देवी, श्यामकाली देवी आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...