गया में गोदावरी सरोवर में डूबने से सफाईकर्मी की मौत:तालाब की सफाई कर रहा था, पैर फिसला तो गहराई में जाकर डूब गया

गया18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तालाब किनारे लगी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
तालाब किनारे लगी लोगों की भीड़।

गया में शहर के गोदावरी सरोवर में सफाई के दौरान तालाब में डूबने से मौत हो गई। करीब दो घंटे तक सरोवर में कर्मी डूबा रहा। उसके शव को तालाब से ढूंढ निकालने के लिए एसडीएफआर के गोताखोरों को लगाना पड़ा। इसके बाद ही उसका शव निकला जा सका। मृतक की पहचान मुंगेश्वर मांझी के रूप में हुई है। वह गेवाल बिगहा का रहनेवाला था।

गोदावरी सरोवर वो सरोवर है जहां से पिंडदान की पहली क्रिया शुरू होती है। खास कर यह उनके खासा महत्वपूर्ण है जो 17 दिनों के लिए पिंडदान करने आते हैं और किसी वजह से पटना के पुनपुन नदी में पांव पूजा नहीं करते हैं। इस लिए यहां पिंडदानियों की पितृपक्ष मेला के दौरान भीड़ लगी ही रहती है। रविवार को भी पिंडदानियों की भीड़ लगी थी। सफाई कर्मी भी तालाब की सफाई करने में जुटे था।

इसी बीच एक व्यक्ति अचानक से तालाब में डूबने लगा और वह पल भर में ही सरोवर में डूब गया। यह देख मौके पर अफरातफरी मच गई। कोई कहने लगा कि तीर्थयात्री डूब गया है तो कोई सफाई कर्मी के डूबने की बात कहने लगे। तीर्थयात्री के डूबने की खबर पर जिला प्रशासन भी हरकत में आ गया। आननफानन में एसडीआरएफ के गोताखोर को बुलाया गया। तालाब में डूबे शख्स की तलाश शुरू हुई। करीब आधा घंटे की खोजबीन के बाद उसका शव तालाब से बरामद कर लिया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए मगध मेडिकल भेजा जा रहा है। वहीं इस घटना की सूचना से सफाई कर्मी के घर में कोहराम मचा है। वह पास के मुहल्ले का रहनेवाला था।

खबरें और भी हैं...